छत्तीसगढ़ी फनी जोक्स। Cg jokes - हमर गांव

Latest

Thursday, 7 June 2018

छत्तीसगढ़ी फनी जोक्स। Cg jokes



वर्तमान के भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग हंसना भूल गए हैं । काम का बोझ इतना बढ़ गया है कि किसी के पास बैठ कर एक पल के लिए हंसी मजाक भी करने का समय नहीं है।
हंसने के लिए लोग इंटरनेट में jokes सर्च करके पढ़ते हैं।


जोक्स एक ऐसा कला है जो किसी भी व्यक्ति के चेहरे पर अनचाहे हंसी ला सकता है। jokes सुनने वाले और सुनाने वाले दोनों व्यक्ति को सुकून पहुंचता है।

         ऐसे लोगों से आप लोगों का सामना जरूर हुआ होगा जो हमेशा उदास नजर आते हैं, ऐसे लोगों के लिए jokes दवाई से कम साबित नही होता है।
             कभी कभी डॉंक्टर भी ऐसे माहौल में रहने का सलाह भी देते हैं।सफर में,काम करते समय,दोस्तों के साथ खाली समय,कहीं भी जोक्स सुनाकर आनन्द लिया जा सकता है ।
     Jokes शरीर के साथ साथ मन के लिए भी लाभकारी है ।शहरों में आपने जरूर देखा होगा लाफिंग क्लब बना होता है जो लोगों को हसाने का काम करता है।
                   इन्ही सब बातों को ध्यान में रख कर  आप लोगों के लिए प्रस्तुत है छत्तीसगढ़ी में joke




1.टुरा-तोर मया म बइहा होके खारेखार किंदरत हौं.......
तोर मया म बइहा होके खारेखार किंदरत हौं.......
थोरको तोला मया नई लागय घाम पियास म तड़पत हौं...

टुरी-मरजा रोगहा मोर मया के नाव लेके लासा खोजत हस,  का मैं तोर बर पानी पहुंचाए ल आंवव 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


2.डोकरा-(डोकरी ल देख के)-तोर दिल म मोला बसा ले नई                
 तो मोर दुनिया लूट जाहि.......
तोर दिल म मोला बसा ले नई तो मोर दुनिया लूट जाहि.....

डोकरी-मोर चार चार झन बेटा हे सुन परहि त तोर पागी घलो छूट जाहि 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


3.टुरा- फूल सहीं तोर कोमल बदन चेहरा तोर चाँद के........
 फूल सहीं तोर कोमल बदन चेहरा तोर चाँद के........
टुरी-(सरमा के)सहीं म..

टुरा-फूल सहीं तोर कोमल बदन चेहरा तोर चाँद के ,तारा जइसे चमकत हे जुवां तोर बाल के😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


4.टुरा-मया के दु ठन कुरिया बसाबो सुख म दुनो जिनगी  बिताबो.....
मया के दु ठन कुरिया बसाबो सुख म दुनों जिनगी बिताबो.......

छत्तीसगढ़िया टुरी- तो ददा ह कभू मया के कुरिया बनाय हे ,कुरिया बनाय बर लकड़ी फाटा लगथे,😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


5. टुरा- नई लावंव मोटर संगी नई लावंव बराती तोला लेके भाग जाहूं मैं ह आधा राती...
टुरी- का कहे एक बार अउ कही तो?
टुरा- नई लावंव मोटर संगी नई लावंव बाराती तोला लेके भाग जाहूं मैं ह आधा राती.....

टुरी-  साफ साफ बोल न खर्चा करे के अवकात नई हे 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊






6. गोलू(भोलू से)- मैं लाइट दिखावत हौं तैं ओखर अंजोर म बादर म जा।

भोलू- मोला पगला समझथच का ,लाईट बन्द कर देबे त मैं तो रस्ता म लटक जाहूं।😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊




7. समारू( बुधारू से)- आजकल तोर भइँसी अड़बड़ मोटावत हे, का खवाथच हरियर चारा के दिन तको नोहय।

बुधारू- हौ जी काबर के न मैं अपन भइंस के आँखि म हरियर चसमा ल बांध दे हंवा। कतको सुख्खा चारा ल तको हरियर चारा समझथे।😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



8.सास-बहू जातो भइसी ल भूसा खवा दे।
शहरिया बहु-(कोटना मेर ले लहुट के)दाई अभी भइसी ह बरस करत हे बाद म भूसा डारहूँ
सास-तैं कइसे जाने भइसी बरस करत हे।

बहु-काबर के भइसी के मुह म अभी झाग हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


9.गोलू-बाबू मैं कइसे होयहौं ग?
दद- तोर दाई से सादी करे हौं त होय हस बेटा।

गोलू-(रोवत रोवत ) मोर दाई ले काबर सादी करे महुँ तोर दाई  ले सादी करहुं😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


10.समारू- डॉक्टर साहब देख तो मोर गोड़ ह कइसे नीला                   पड़ गे हे।
झोला छाप डॉक्टर-(जांच करके) समारू तोर बीमारी तो समझ म नई आवत ए फेर खतरनाक बीमारी ए गोड़ ल माड़ी तक काटे बर पड़ही।
समारू-(उदास होके) ठीक हे डॉक्टर साहब।

(माड़ी तक काटे के 5-6 दिन बाद)
समारू-डॉक्टर साहब ए तो ठीक ही नई होवत ए ।
डॉक्टर-(देखे के बाद)तोर बीमारी तो अउ बाढ़ गे अब माड़ी के कुछ ऊपर ल काटे ल पड़ही।
समारू- ठीक हे डॉक्टर साहब काट दे।

(फेर 5-6 दिन बाद)
समारू-डॉक्टर साहब ए तो ठीक ही नई होवत ए आबो नीला नीला दिखत हे।

झोला छाप डॉक्टर-(जांच करे के बाद ) अब जाके तोर बीमारी  समझ म आइस हे समारू तोर नवा जीन्स पेंट ह कलर छोड़त हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊






11.गोलू-(अपन दद के सादी के वीडियो देखत रहय) दद मोरो सादी म चीयर गर्ल नचवाबे न।
दद-बेटा पैसा के कमी हे रे नई नचवावन बेटा।
गोलू- (गुस्सा म) त अपन सादी म काबर नचवावत रहे।

दद-(वीडियो ल देख के) हरामखोर ए मन चीयर गर्ल नोहय तोर फूफू मन ए 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


12.टुरा- (फोन म अपन मयारू से) तोला मैं मया करेंव अबला समझ के...
तोला मैं मया करेंव अबला समझ के.........।

तोर दद मेर पिटवाये मोला तबला समझ के😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


13.टुरा-(गुस्सा म अपन मयारू से) जा जा ए मेर ले रेंग मोला देखाय बर मटक मटक के रेंगथच। मोर कस तोला खोजे म मया करइया नई मिलय।
टुरी-बामीं नहीं टेंगना इही हमर रेंगना।
काड़ी नहीं मूसर तैं नहीं त दूसर।।

टुरा देखत रहिगे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


14.बुधारू- बाबू महुँ पड़रु म चड़ीहौं ग.......।
बाबू महुँ पड़रु म चड़ीहौं ग.......| 
(अइसने काहत काहत रोय लगिस)

दद-(गुस्सा म) राह न रे ,भइसी ल जनमन देबे अभी  भइसी जनमें तक नई हे एला पड़रु चढ़ना हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊

15.बिसाहिन-(सब संगी मन मेर आ के खुशी खुशी ) आज हमर घर लईका होइस हे चार दिन बाद छट्ठी मनाबो........।
भोलू- काखर लईका होइस हे ओ रोवत तको नई ए।
का तोर दाई के लईका होइस हे?
बिसाहिन-नहीं।
भोलू-त तोर दीदी के?
बिसाहिन-नहीं।
भोलू-त तोर भउजी के लईका होइस होही?
बिसाहिन-नहीं रे।
भोलू-त काखर होइस हे रोवत तको नई हे?


बिसाहिन-हमर भइसी के😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


16.समारू के रिसेप्शन पार्टी म........
गोलू-बधाई हो दोस्त देर से लाए फेर स्कार्पियो ही लाए😊😊

समारू-धन्यवाद दोस्त,आखिर दोस्त काखर आंव तुंहर नुना ल नई लाए हस का........


समारू के बाई- बेहोस😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊

समारू के दद-कहाँ हस बेटा।
समारू- पढ़त हौं दद।


समारू के दद- त तरिया तीर बइठ के कोन ए गुड़ाखु घसत हे रे।
हरामखोर चल घर भाग पेपर के समय हे ।अउ हां डबिया ल मोला देवत जा😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊

17.पहाड़ के तीर म हे बड़े बड़े खाई.......।
पहाड़ के तीर म हे बड़े बड़े खाई............।


नाम..........................नाम जलेबी बाई😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


18.जिंदगी सरल नई हे दोस्त,पग पग म लगथे ठोकर।
जिंदगी सरल नई हे दोस्त,पग पग म लगथे ठोकर।

ठोकर लग गे त फेर उठ ले अउ जोर से चिल्ला अरे मोला कोन ढकेलिस हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


19.छत्तीसगढ़िया टुरा ह फटफटी म जात रहै रसता म टुरी ल देखत देखत गिर गे।
टुरी-लगिस थोड़े हे



छत्तीसगढ़िया टुरा-नही रे पगली हमन फटफटी ले अइसने उतरथन😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


20.समारू बुधारू ल-  का साग खाय हस भाई?
बुधारू-मछरी साग तो खाय हौं भाई।
बुधारू-समारू तहूँ खाथच का भाई?
समारू-नही नही बिल्कुल नही।

फेर कभूकभार झोर ल चीख लेथंव😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊




21.एक दिन समारू शादी करे बर लड़की देखे ल गिस।
लड़की के दद-तोर म कुच्छु खासियत हे?
समारू-खासियत तो बहुत हे ।
लड़की के दद-एकात खासियत ल बताते बाबू।

समारू- फटफटी म चलत चलत बीड़ी जला लेथों अउ बियर के ढक्कन ल दांत म खोल देथौं😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


22.समारू बुधारू ल- बुधारू का बात ए तुंहर घर बहुत फोटाका फूटत रहिस?
बुधारू- हां भाई हमर घर लईका होइस हे न।
समारू- काखर लईका जी, का तोर दाई के लईका होइस हे?
बुधारू-नही बे।
समारू- त तोर भउजी के?
बुधारू-नही बे।
समारू- त तोर बहिनी के?
बुधारू - नही यार।
समारू-त ठीक से बताबे की ओइसने नही नही कहत रही बे।

बुधारू-हमर भइसी के लईका होइस हे भाई😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



23.समारू अपन दद संग जंगल गए रहय।अचानक एक ठन बाघ ह आघू म आ गे।
समारू-बाप..... बाप .....बाप ...बाप....।



(समारू के दद का होगे कहिके तीर म आके देखथे अउ उहू ह बाघ में हबड़ जाथे ।)
समारू के दद-तोर संग म महुँ ल फंसा डारे रे बाप बाप के बजाय बाघ बाघ नई बोल सकत रहे बे।


समारू-बाघ....बाघ...ही बोलत रहेव दद फेर डर के मारे बाघ के जगा बाप .....बाप......निकल गिस हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



24.हमर गॉव म तरिया ल मछरी मारे बर मतावत रहैं एक झन ह बड़ेक जबर भुंडा मछरी ल पागे।अउ भुंडा मछरी मिलहि कहिके सब जोर से पानी ल मताईन।तान्तु नाव के ह बड़ेक जबर बामी ल पागे फेर-

(तान्तु, पंजू नाव के आदमी ल)
तान्तु-दउड़ पंजू.....दउड़ पंजू ......बड़का जबर बामी पकड़े हौं।
पंजू-(तीर म आके)ठीक से पकड़ाय हे रे?
तान्तु-हौ।
पंजू-त ले पानी ले बाहर निकाल।
तान्तु-बचाव भाई.....बचाव भाई.........।
पंजू-का होगे रे?


तान्तु-बामी के भोरहा म ढोढ़वा सांप ल पकड़ डरे रहेव भाई😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


25.समारू नहाय ल जात रहय त देखथे एक घर म डोकरा ह डोकरी ल धुक धुक के खवात रहय।फेर नहाके लहूटीस त डोकरी ह डोकरा ल धुक धुक के खवात रहय।

समारू-बब भारी तुंहर मया ग डोकरी दाई खात रहिस त तैं धुकत रहे अउ तैं खात रहे त डोकरी दाई धुकत रहिस हे।


डोकरा-का मया बेटा ,दुनों के दांत झर गेहे एक सेट दांत लिए हौं ओ खाथे त मैं ठलहा ,मैं खाथों त ओ ठलहा त का करी एक दूसर ल देखत रहीथन कब दांत ल दै त मैं खांव,,,😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



26. एक गॉव के टुरा ह नौकरी पागे अउ शहर के टुरी ल शादी कर लिस।टुरा के एक छोटे भाई रहय। इमन सब दतवन छाप रहैं।कोलगेट के बारे मे नई जानत रहैं।शादी के बिहान भरओखर बाई ह कोलगेट करत रहै-
देवर-भउजी काए महू ल देना।
भउजी-लो जी।

 (देवर चीख के देखिस मीठा लगिस त खा गे।)
देवर-अउ देना।
भउजी-बार बार नई दूंगी।
देवर-भैया देख तो अउ नई देवत ए।
भईया-काए जी देखा।

(खाके देखिस अउ छोटे भाई ह जादा जिद्द करिस त  एक झापड़ लगा दिस)
छोटे भाई- (रोवत रोवत )काबर मारे भईया?


भईया-एला अइसने थोड़े खाथें रे, रोटी म खाथें 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



27.रामु- अदि हलात तोर खिलाफ हो जाहि अउ तोला चिखचिख के चिल्लाहि त तैंं का करबे?
रामु-चिल्लान देना सारे ल जान न पहिचान चिल्लाहि तबो हमन ल का करना।


रामु-बेहोश😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


28.गुरु जी-(बच्चों से)  पहाड़ के नक्शा बनावा अउ ओला रंगना तको हे।
(कुछ देर बाद दिखाईन)
गुरु जी- रामु के म रंग सुंदर हे, श्यामू के तको अच्छा हे।

समारू-सर मोरो बन गे।
गुरुजी-(कॉपी देख के) ए काए रे !सब के कतका सुंदर सुंदर रंगबिरंगा दिखत हे,तोर दद ह कभू अइसने पहाड़ देखे हे।
समारू-हौ गुरुजी।
गुरुजी-जुबान लड़ाथस बे (दु-तीन राहपट मारिस)

समारू-( रोवत रोवत)हिमालय पहाड़ बनाय रेहेंव।


गुरुजी😢😢😢

😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


29.टुरा- तै बनजा मोर घरवाली ,तोर भाई मोर सारा...
तैं बनजा मोर घरवाली ,तोर भाई मोर सारा.....
टुरी-तुंहर पारा आए हौं त लाइन मारत हस,दम हे त आबे हमर पारा।


टुरा-मजाक करत रहेंव बहिनी😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


30.बजरहा-ऐसे बानी बोलिए  कि मन का आपा खोय.....
ऐसे बानी बोलिए कि मन का आपा खोय.......
ऐसे बानी बोलिए कि मन का आपा खोय......

समारू-कइसे बानी जल्दी बता नही त मोर आपा खो जाहि😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



31.गुरु जी के जनगणना म ड्यूटी लगे रहय ।गुरुजी बिहनिया कन एक डोकरी के घर पहुंचगे।
गुरुजी-गुड मॉर्निंग ।
डोकरी-तोरे दाई बहिनी मन हो जाय न गुड मॉर्निंग।
गुरुजी-पाँव परत हौं कहे हौं दाई।
डोकरी-अच्छा! जियत रह बेटा।
गुरुजी-जनगणना करे ल आए हौं दाई।
डोकरी-(गुस्साके) तोरे कसन कई झन रोगहा मन लिख लिख के कई बार लेगे आज तक कुच्छु नई मिलीच।रोगहा मन ल चप्पले  चप्पल लगातेेंव।



गुरुजी भागते भागिच😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


32.मनेजर-मालिक-मालकिन ए साल एक करोड़ के फायदा होइस हे।अगले साल दो करोड़ के फायदा बढ़ाना हे।

मालकिन-हमन ल तोर ऊपर पूरा भरोसा हे काबर के तैं हमर एड्सवायरस आच न।
मनेजर-☺️☺️☺️
मालिक-एडवाईजर जी।

मालकिन-हां हां उहि😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


33.मैडम-भोलू एक प्रश्न पुछौं पढ़ के आए हस?
भोलू-पुछ न मेडम, बेझिझक पुछ।
मैडम-भारत म सबसे जादा पानी कहाँ गिरथे?

भोलू-भुइँया म😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


34.गोलू- भोलू तुंहर घर काय फुसरत रहिस यार?
भोलू-हमर घर म सांप पाले हन न.......
गोलू-चल बे फेंकत हस।
भोलू-नही बे। हम हमेशा खतरा से खेलथन, तुंहर कस थोरे बे डरपोकना।


गोलू-अच्छा!तैं जानथच बे तुंहर सांप ल पहिले हमन पाले रहेन अब बिख कम होगे त तुंहर घर म दे देेे हवन😃😃😃😃😁😁😁😁😁😀😀😁😁😁😀😁😁😁



35.गुरुजी-14 फरवरी के दिन कोन से दिवस मनाय जाथे?
राजू-नई पता सर। तहीं बता देना।
गुरुजी-सोंच के बतावव।
राजू-वेलेंटाइन डे सर।


गुरुजी-ओखर अलावा तोला कुच्छु नई सुझय बे। ए दिन मातृ पितृ दिवस मनाय जाथे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



36.टुरा-तोर मया म मैं मोहाके, गेएंव तोर पारा......
तोर मया म मैं मोहाके, गेएंव तोर पारा,
जोशे जोश म बोल परेंव तोर भाई ल मैं सारा।

टुरी-वाव! मोर दीवाना ,फेर का होइस हे?


टुरा-फेर का! दउड़ा दउड़ा के तोर दद ह मारिस हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊☺️



37.(टेटकू अपन मयारू के हाथ देखाय बर साधुबब मेर गिस)
साधुबब-हांथ देखे के पांच सौ लेथों।
टेटकू-ठीक हे बब मोर मयारू के हाथ देख के भविष्य बतादे ।

(टेटकू के मयारू ल देख के)
बब- बेटा ए ले एक हजार रुपया फेर मैं भविष्य नई बता सकौं।
टेटकू-ए का बब !मैं ह तोला पैसा देतेंव त उल्टा तैं ह मोला पैसा देतहस।


बब-ओ काये न बेटा ,ओ तो रुमाल अतका बड़ कपड़ा पहिने हे मोरे भविष्य अंधियार लागे लगिस😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


38. चिंटू-आज मोर बघवा ह चार सौ मीटर के दउड़ जीतिस हे।
मिंटू-भईया ।घोड़ा दउड़ सुनें रेहेंव,ये बघवा दउड़ कबले होय लगिस
चिंटू -मोर बेटा ल बघवा कहे रहेव भाई

मिंटू - त शेरनी कहाँ हे 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


39.ससुर-दमांद कुछ पीथच खाथच।
दमांद-हौ पानी पीथौंव अउ भात खाथौं।
ससुर -कुछ चलथे ग। 
दमांद-सब चलथे।
ससुर-मोर  कहे के बतलब हे मुरगा, दारू चलथे।
दमांद-ओ ह कइसे चलहि जी मरे मुरगा कभू चलथे।
ससुर-(झल्लाके) अरे मुरगा खाथस अउ दारू पीथस?

दमांद-(लजाके)मोर तो नई चलय फेर तुुंहर मन होही त संग म थोरकन ले लेहुँ😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



40.गुरुजी-बेटा समारू तैं बता,हांथी ह कुंवा म गिर जाहि त कइसे निकलही?


समारू-गुरुजी,हांथी ह नहाखोर के निकलही😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


41.बुधारू-भैंसी ह तोर कोती दउड़त आहि त तैं का करबे?

समारू-मैं का करहुं, जेन करही भैंसी हर ही करही😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


42.गुरुजी-'काल करे सो आज कर ,आज करे सो अब' कोन कहे रहिस हे?

बुधारू-गुरुजी काली तो तहीं कहे रहे ,भुलागे।हमन भुला जथन त मारथच😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


43.गुरुजी-तुमन घर से सीधा स्कूल आए करौ..

बुधारू-गुरुजी जी मैं कइसे सीधा आहूं ,स्कूल आए बर पीपर पेड़ मेर ले मुड़े ल परथे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊



44. गुरुजी- बुधारू बता 1869 म काय होए रहिस हे?
बुधारू-नई पता गुरुजी।
गुरुजी-महात्मा गांधी जनम ले रहिस हे।
गुरुजी-अब दूसर सवाल के जवाब दे।1873 म काय हो रहिस हे?


बुधारू-गुरुजी महात्मा गांधी चार साल के होगे रहिस हे😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


45.संगीत गुरु-संगीत अइसे चीज ए जेखर ले सब बीमारी दूर हो जथे।


चेला-गुरु पेट दरद बर कोन से संगीत लौं😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊


46.चीकू-तूफान आ गे, तूफान आ गे..
बुद्धू-भागव -भागव ,सब भागव तूफान आवत हे
कक-मौसम तो ठीक हे रे काहाँ तूफान आवत हे
बुद्धू-चीकू कहिस हे कक
कक-कइसे चीकू मौसम तो ठीक हे



चीकू- आवत हे न कक ,हमर टी वी म 😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉


47.महेंद्र बाहुबली-ए  बुधियारिन ह अपन बेटी ल का खवाथे रे
कटप्पा-का बात ए महराज पूछत हस ,पसन्द आगे का..



महेंद्र बाहुबली-नही कटप्पा, भैंसी कस मोटावत हे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


48.टुरा-आना दुनों झन भाग चली,दिल्ली बम्बई..
टुरी-हम नई जान उहां जा के का करबो..
टुरा-घुमबो अउ मजा करबो
टुरी-पइसा का तोर बाप दिही
टुरा- (मायूस होके) बाप दद ल झन उदक न पगली, पइसा मैं धरे हौं


टुरी-दिल्ली बम्बई जाय बर तोर मेर पइसा होगे ,मोर मोबाइल ल रिचार्ज करादे कहीथौं त पइसा नई ए कहि देथच ,चल जा ओती तोर मुह ल टार रोगहा😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


49.समारू-बुधारू तुंहर घर के मन आजकल कमाय ल जाबे नई करैं फेर तैं ह मोबाइल म बहुत बेरा तक गुठियात रहे,बेलेन्स काहाँ ले डलवाथौ..


बुधारू-फिरि के मोबाइल संगी ,दु रुपया किलो चाउंर खाथों।
कमाथौ कोनो मेर एको रुपया त ,शाम के पउआ मार के आथों😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

50.सब लईका मैदान म खेलत रहैं। बुद्धू थोरकन तोतरावय ओ ह अचानक साँप देख डारिस
बुद्धू-थाफ हे थाफ हे भादो भादो.......
नट्टू-साफ हे तबे तो खेलत हन
बुद्धू-नही थाफ हे थाफ .....

(अचानक नट्टू के तको नजर पड़ गे)
नट्टू-बुद्धू साँप हे कहिके नई बताते अभी मरवा डरे रहे

बुद्धू-तोनों थुना त ,मैं तब थे तहत थौं ,थाफ हे थाफ😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

51.तीजा के समय एक दरुहा दारू पी के रोड के तीर म पड़े रहय।
पुलिस-चल बे उठ के भाग नहीं त अंदर कर देहुं
दरुहा-साहब आज भर पियन दे काल भले अंदर कर देबे
पुलिस-आज अइसे का बात होगे रे..
दरुहा-साहब मोर बाई ह तीजा मनाय ल मइके गे हे आज अपन जिंदगी जीयन दे..


पुलिस-(दरुहा ल पोटार के)भाई एकाक पेक होही त महूँ ल दे देते ,महुँ आज जी भर के जी लेतेंव मोरो बाई मइके गे हे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


52.कक-समारू आज काबर एतका पी ले हच रे ,चले तको नई सकत अस


समारू-कुच्छु बात नई ए कक,एक बोतल ले रहेंव ,आधा बोतल ल पीये रतेंव, फेर ढक्कन गंवा गिस हे त धर के लाते नई बनिस हे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


53.बुधारू-उठ न दद ,उठ न ग
दद-सोवन देना बेटा ,कस के नींद आवत हे


बुधारू-ठीक हे सो जबे फेर नींद के दवई ल तो खाले😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

54.बुधारू-समारू बिजली ल बन्द कर दे तो
समारू-वाह भईया बिजली बचत


बुधारू-नही रे बिजली ल कोन बचा सकही ओ तो तार म रहिबे करही ।बलफ ह उड़ जथे कई ठन बदल डरेंव😆😆😆😆😆😆😆😆😆😗😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

55.दुकलहा-भाईया हमर राज ह तो चौबीसों घण्टा बिजली देहे वाले राज ए, फेर हमर गॉव म पांच-पांच,छे-छे घण्टा बिजली नई आवय


सुकलहा-देवत तो हे भाई ,कारखाना मन ला ,अब सरकार ह ए तो नई कहे ए के ,तोरे गॉव म भर देहुं😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

56.बाहुबली-ए देवसेना काबर रिसाय हे कटप्पा..
कटप्पा-देवसेना कहत रहिस हे मोर बर नौलक्खा बनवा देवय नहीं त मइके चल देहुँ.

बाहुबली-(देवसेना ल सुना के)ठीक हे मइके जाना चाहत हे त जावन दे अभी हाथ म कुच्छु खरीदे बर पइसा नई हे, अउ अइसे भी मोर पुराना मयारू ह अपन भाई ल राखी बाँधे ल आवत हे।




देवसेना-(बाहुबली ल सुना के) कटप्पा ठीक हे हाथ म पइसा होही त नौलक्खा बनवा दिही,अउ हाँ अभी मइके जाए के मन नई हे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


57.मैनेजर-अरे एसी को किससे साफ कराए हो रूम ठीक से ठंढा नई हो रहा है

बुद्धू-साहब महीं ह तो रगड़ रगड़ के पोछे  हौं ,अब ठंढा नई होवत ए त मैं का करौंव😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

58.दुकलहा-भोलू ल न तो तैं मारे अस ,न पीटे अस फेर ओ ह कइसे बेहोस होगिस हे
सुकलहा-का पता भईया, मोर मोजा ल सूंघीस हे तहाँ ले बेहोस हो गिस हे।का होगे भईया मोला डर लगत हे
दुकलहा- डरे के बात नई हे, फेर ए बता ,मोजा ल कब धोये रहे..

सुकलहा-पन्द्रा दिन होवत होही भईया😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉


59.जकला-चल भाग मोर दिमाग ल झन खा..

भकला-मैं ह तो सिरिफ तोर अंगार रोटी ल खाए हौं,ए 'दिमाग'का रोटी ए भईया😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

60.जकला-कक ए ले खीर खा..
कक-(चीख के) कोन कथे ए ह खीर ये ?बनाय ल तको नई आय हे

जकला-कक, फेर बनाय के बेरा तो देख के सब झन कहत रहिन हे के, खीर बनावत हौ 😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

61.जकला- भाई मैं आज अड़बड़ परसान हौं
भकला-का होगे भईया

जकला-देख न भाई सादी के पहली गारी देवय अउ सादी के बाद आज  कहिथे मोर हाथ ल नई मांग सकत रेहे
भकला-अब का सोचत हस भइया

जकला-कुच्छु नही रे, अब मैं ह कोन से गारी दौं😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉


62.बैसखिया-आज कल टुरी पिला मन ल कमजोर झन समझै
टुरा मन के कंधा म कंधा मिला के काम करत हें
जकला-मेडम अनशन करना हे अपन अपन नाम ल लिखा देतेव

बैसखिया-आज मोला बिहनिहा ले कइसे नई लगत हे ,टुरे पिला मन अनशन म बइठ जतेव😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

63.दद-तोर शादी करे बर लड़का देखे हौं,घर जमाई बन के रैही।

बेटी-दद फेर तो मोर शादी मंगलू से कर दे ,तुमन कहूँ जाथौ त मोर संग हमारे घर म रहिथे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

64. मंगलू-आजकल का होगे बहुत दुबरावत हस ,पहिली तो बहुत बड़े पहलवान रहेच।

झंगलु-कुछू नई होये भईया, शादी के बाद मोर सामना मोर से बड़े पहलवान से होगे हे,मोला उठा उठा के पटक देथे सब पहलवानी धरे के धरे रहिगे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

65.गुरुजी-गुरुत्वाकर्षण का ए कोन बताही?


मंगलू-गुरुजी, जब गुरु  कोती आकर्षण होथे त ओला गुरुत्वाकर्षण कथे।गुरुजी तैं ह मोर तीर म खड़े हस त हमर बीच म जीरो गुरुत्वाकर्षण हे😁😁😁😁😁😁😁😉😉😉😉😉😉😁😁😁😁😉😉😉😉😉😉😉😆


67.समारू के बाई-मैं  मइके जाथौं त तोला मोर बहुत याद आत होही न ।
समारू-हां, थोर थोर।लेकिन मोर याद तोला बहुत आवत होही न।
समारू के बाई-तै कइसे जाने।

समारू-मैं सब जानथौं तोला नींद तको नई आवत होही,काबर के घर म काम करे बर नौकरानी आथे न😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉

68.गुरुजी-'दिमाग बड़े के भईस बड़े ' मंगलू तैं बता।
मंगलू-सर भईस बड़े।
गुरुजी-कइसे?

मंगलू-गुरुजी,दाई बतावत रहिस हे, के दूध पिये ले दिमाग बढ़थे।दूध नई पिबो त दिमाग काम नई करही😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

69.मंगलू-ए ट्रॉफी मोर ए, मैं जीते हौंव।

झंगलु-नही, ए ट्रॉफी मोर ए।मैं हारे हौंव तभे तो जीते हस।मोर दाई कहिथे सबले बड़े बिजेता ओ होथे जेन ह हार के जितथे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


70.गुरुजी-हमर शरीर म लगभग 85 प्रतिशत पानी पाए जाथे।


भोलू-गुरुजी जब एतका पानी होथे त डॉक्टर ह दिन भर म दस-बारा गिलास पिये ल काबर कथे,  शरीर ल बइला के कोटना समझ रखे हे का😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


71.दुकलहा-भाई सुने हौं सरकार ह अंधविश्वास ल बढ़ाये बर योजना चलवईया हे।
सुकलहा-सहीं म,योजना के का नाम रखे हे भाई.....


दुकलहा-कम्बल वाले बब😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

72.सुकालू-हमन ल 200 सौ म रसोई गैस मीले हे अउ शौचालय तको बन गय अब तो मजा हे।
दुकालू-गैस के दाम कतका हे कुच्छु पता हे, आठ सौ ले ऊपर पहुच गे हे।
सुकालू-अब का करबो भाई


दुकालू-जादा टेंशन मत ले, खाबे तभे तो जाबे😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

73.टुरा-खाले ओ गुपचुप मजेदार।
टुरी-पैसा का तोर बाप दिही।


टुरा-तैं काबर चिल्लावत हस,मैं तो गाना गावत रहेंव।मोर मेर ये सब बर पैसा नई ए😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆

74.नेताजी -इस गॉव में आने के बाद ऐसा लग रहा है जैसे मैं अभी भी सपना देख रहा हूँ।

मंगलू-इहाँ काहाँ के सपना साहब ,इहाँ आपमन जेला देखत हौ ओखर नाम बुधियारिन,दुकलहीन अउ गनेशिया हे😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁

75.बुधारू-समारू आज कल का करत हस।


समारू-फिरि के मोबाइल संगी, दु रुपिया किलो चाँउर खाथौंव।
एको दु रुपिया कमा लेथौंव त, साँझकन पउवा मारे ल जाथौंव😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😆😆😆😆😆😉😉😉😉😉😆😆😆

76.कल्लू -भाई नानू 'तीजा पोरा ' के सायरी बतातो ,मोर मयारू तीजा पोरा माने ल आवत हे।


नानू-तीजा पोरा आगे संगी,सुन के मन हरिया गे।
 तीजा माने आवत हे मयारू,सुनके कल्लू करिया गे।।😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


77.गुरुजी-'राजा मन हमेशा हाथी,घोड़ा म बइठ के जायँ अउ सेना हमेशा साथ म रहयँ' एखर से का समझेव...


बुधारू-गुरुजी राजा मन डरपोक रहयं😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁😁



78.गुरुजी-शाहजहाँ कोन ए ?

सुकालू-गुरुजी,शाहजहाँ बिल्डर रहिस।ताजमहल ल बनवाय रहिस हे😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉😉


79.गुरुजी -एक अइसे चेन के नाम बतावव जेला कोनों नई टोर सकयँ।

बुधारू- गुरुजी,जैकिचेन😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😗😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆😆


80.गुरुजी- समारू,तोर दद ह सिहरे अस दिखत रहिस हे ,का होगे हे।

समारू-कुछू नो है गुरुजी,मोर दद ह रातकन दारू पी के अंगना म सोगे रहिस हे।अंधियार म कुकूर ए कहिके दाई ह  एक कुटेला मार दिस हे😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀


81.गुरुजी-बिला म रहईया पांच जीव के नाव बता।
दुकालू-गुरुजी, नई पता।
गुरुजी- नई पता त मार  खा।

दुकालू-1.मूसुवा।
         2.मूसुवा के दद।
         3.मूसुवा के दाई।
         4.मूसुवा के बहिनी।
         5.मूसुवा के बाई😆😆😆😀😀😀😀😆😆😆😆😀😁😀😀😆😆😆😆😆😀😀😀😆😆


82.समारू-पारो ह तो तोला धोखा दे दिस। भाई कुच्छु गलत कदम झन उठा बे।
बुधारु-नई उठाववं भाई।
समारू-शीशी म काय धरे हस, चल दे।

बुधारु- अबे दारू ल तो पियन दे।बोतल ल लूट ले हस😀😀😀😀😁😁😁😁😁😀😀😀😀😆😆😆😆


83.गुरुजी-गाय के ऊपर निबंध लिखौ।
बुधारु-गुरुजी ऊपर म तो बइठ के लिख सकत हौं फेर मेछरा दिही त।
गुरुजी-कोनो मेर पथरा हे का अपन मुड़ी ल पटक हूँ।


बुधारु -मुड़ी पिरावत हे का । मुड़ पीरा के इलाज पथरा म कब ले होवत हे😁😀😀😆😆😉😉😙😙😉😉😙😆😀😀😀😀😀😀😀😀😁😆😆😆😁😉😉



84.पकला-ओ का चीज ए जेन ह आदमी ल बिना आपरेशन के बदल देथे।
जकला-प्रेम।

पकला-गलत जवाब सहीं हे बाई😁😁😁😀😀😀😀😆😀😀😁😁😉😉😉😁😁😁😀😀😀😀😁


85.छुन्नु के दद-बेटा आज पहिली बार इसकुल जावत हस, गुरुजी ह जइसे पढ़ाही ओइसने तहूँ पढ़बे।
छुन्नू -हौ दद।

(इसकुल म गुरुजी छुन्नू ल खड़ा करके)
गुरुजी-तोर दद के का नाव हे जी?
छुन्नू-तोर दद के का नाव हे जी।
गुरुजी-अरे!मैं तोर दद के नाव पूछत हौं?
छुन्नू-अरे मैं तोर दद के नाव पूछत हौं।
गुरुजी- माथा पिरवा डरे रे।
छुन्नू-माथा पिरवा डरे रे।
गुरुजी-चलबे बइठ।

छुन्नू-चलबे बइठ😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😀😆😃😃😃😄😂😂😃😁😁😂😃😁😀😄😀


86.छुन्नू-आज मैं बहुत खुश हौं मोर घर शेर होइस हे।

बुन्नू- डिलबरी के बाद तोर शेरनी ठीक हे भाई😃😃😂😄😁😄😀😎😉😄😁😄😁😊😃😁😃


87.छुन्नू- चलौ 'उड़'वाले खेल खेलबो।
मुन्नू-ठीक हे।
छुन्नू-मिट्ठू?
मुन्नू-उड़।
छुन्नू-कँउआ?
मुन्नू-उड़।
छुन्नू-बिसाहिन?
मुन्नू-उड़

छुन्नू-मुन्नू हार गेस बिसाहिन थोड़े उड़थे?


मुन्नू-त गॉव के टुरा मन काबर कथें, ए टुरी के पंख उग आए हे आजकल जादा उड़त हे😁😁😂😃😁😃😀😄😉😄😊😉😊😁😄😊😎😉😎😁🤣😉😉😃😁


88.छुन्नू-मोर लड़की के शादी करना हे, कोनों अइसे लड़का बता जेन ह 20-25 लाख के हवेली म रहत होही।

मुन्नू- मुन्ना माइकल हे न,25 लाख म बने जेल घर म रहिथे😀😁😁😃😀😃😉😉😁🤣😀😋😉😉😋😀😃😚😋😉😋😉😋😀😉😎😀


89.टुरा-तोला देखेंव त हिरदे म बिजली दउड़ गे।
टुरी-मोला लाइन मारत हस।(एक झापड़ जड़ डिस)।

टुरा-अब अइसे लगत हे जइसे कोनों मेर सांट होगे😀😀😀😀😃😃😃😃😀😀😀😀😀😀😀😀


90.नेता-समारू भइया चुनाव म मोला वोट देबे ग,ए ले दारू बर पइसा।
समारू-मोला दारू बर पइसा देथस,तोला वोट नई दौं।
नेता-काबर गुस्सा गे भइया?


समारू-त चखना बर पइसा का तोर बाप ह देहि😃😃😀😃😃😀😀😃😃😀😀😃😃😃😃😀😃😃😃




इसे भी पढ़ें-हिंदी फ़नी जोक्स।



दोस्तों यदि आप लोगों को छत्तीसगढ़ी jokes पसन्द आया हो तो शेयर जरूर करना आपका एक शेयर जाने अनजाने किसी के चेहरे पर मुस्कान ला सकता है।

    छत्तीसगढ़ी जोक्स आपको कैसा लगा कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें जरूर अवगत कराना।यदि आप लोग छत्तीसगढ़ी जोक्स में रुचि रखते हैं तो हमसे जरूर शेयर करना।जय छत्तीसगढ़ जय छत्तीसगढ़ी





 

17 comments:

  1. बहुत ही सुंदर सुंदर जोक्स है

    ReplyDelete
  2. मस्त है खास कर गब्बर वाला जोक्स बहुत अच्छा लगा

    ReplyDelete
  3. भैसी अउ ब्रश वाला जोक परमाणु बम से भी ज्यादा विस्फोटक जोक है।

    ReplyDelete
  4. अइसने मया दया रखे रईहु संगी हो

    ReplyDelete
  5. बहुत सूंदर सर

    ReplyDelete
  6. आप मन के मया पा के मस्त लगिस हे।कविता,कहानी ,जनउला पढ़े बर www.hamargaon .Com गूगल म जरूर सर्च करौ।जय जोहर

    ReplyDelete
  7. क्या मैं आपके जोक्स के ऊपर वीडियो बना सकता हूं । प्लीज रिप्लाई मी सर

    ReplyDelete
  8. आदरणीय माफी चाहूंगा । मेरा दोस्त इस विषय पर मेरा सहमति ले चुका है यदि आप पहले ही सम्पर्क कर लिए होते तो मुझे हाँ कहने में कोई परेशानी नही होती ।इस पर वह काम करना शुरू कर दिया है ।

    ReplyDelete
  9. छत्तीसगढ़ी जोक्स पर एनिमेटेड फनी वीडियो बनवाने के लिए "DIGIERA ANIMATION STUDIO COMPANY" से संपर्क करें। कोरबा, छत्तीसगढ़। मोब. - 7222922242, 8109689652

    ReplyDelete
  10. मजा आगे छत्तीसगढ़ी म जोक्स पड़ के ।।

    ReplyDelete