मनरेगा की पूरी जानकारी प्राप्त करें मिनटों में,मजदूरी दर/कार्य दिवस/राशि आपके खाते में जमा हुआ कि नही/फर्जीवाड़ा-छत्तीसगढ़ । mgnrega ki puri jankari cg - हमर गांव

Latest

Monday, 25 February 2019

मनरेगा की पूरी जानकारी प्राप्त करें मिनटों में,मजदूरी दर/कार्य दिवस/राशि आपके खाते में जमा हुआ कि नही/फर्जीवाड़ा-छत्तीसगढ़ । mgnrega ki puri jankari cg

मनरेगा की पूरी जानकारी-मजदूरी दर/कार्य दिवस/राशि जमा हुआ कि नहीं/फर्जी मस्टररोल। mgnrega ki puri jankari majduri dar/karya divas/rashi jama ki sthiti/ farji musterroll


नमस्कार दोस्तों,आज हम आप लोगों को ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसको लेकर आए दिन भ्रष्टाचार का आरोप पंचायतों पर लगते रहते हैं।जी हाँ दोस्तों आप जान ही गए होंगे, उस योजना का नाम है-महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा)।

मनरेगा की शुरूवात जब से हुई है तब से आए दिन ही न्यूज पेपर और समाचार चैनलों में मनरेगा में गड़बड़ी की शिकायतें आते ही रहती है।दूसरी बात यह कि यदि आप पंचायत द्वारा मनरेगा में किये गए गड़बड़ी का शिकायत करना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास गड़बड़ी का पुख्ता सबूत होना चाहिए,इसके लिए आपको पंचायत में आर टी आई(RTI) लगाना पड़ेगा।इस प्रक्रिया में कुछ अधिक समय लग सकता है।
दोस्तों हम आपको मनरेगा से सम्बंधित सभी ऑनलाइन सुविधा के बारे में बताने वाले हैं जिसके अंतर्गत आप मिनटों में मनरेगा की जानकारी निकाल कर गड़बड़ी उजागर कर सकते हैं।

मनरेगा(महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना)-
मनरेगा अर्थात महात्मा गांधी राष्ट्रीय  ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ।पहले इस योजना को नरेगा के नाम से जाना जाता है। 25अगस्त 2005 में इस योजना को अधिनियमित किया गया था।2अक्टूबर 2009 को इस योजना का नाम बदलकर 'महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना' कर दिया गया।इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण परिवार के वयस्क सदस्यों को एक वित्तीय वर्ष में 100 दिन की रोजगार की गारंटी दिया जाता है।

मनरेगा के उद्देश्य-
इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों का विकास करना है।जैसे-तालाब गहरीकरण,सड़कों, नहरों,बांधों का निर्माण/मरम्मत,तटबंधों,जल संरक्षण आदि कार्यों के माध्यम से ग्रामीण लोगों के लिए कार्य उपलब्ध कराना है।इस प्रकार कहा जा सकता है कि इस योजना के द्वारा ग्रामीण लोगों के लिए उनके निवास स्थान पर ही रोजगार उपलब्ध कराया जाता है।


पंचायत द्वारा कराए गए कार्यों के मस्टररोल की ऑनलाइन प्रति कैसे प्राप्त करें
जी हाँ दोस्तों आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें ,क्योंकि हम बताने वाले हैं कि आपके पंचायत में कौन-कौन से कार्य स्वीकृत हुए हैं और उसमें आपने कितने दिन कार्य किये हैं,क्या आपके मजदूरी का भुकतान हुआ हैं,या फर्जी मस्टररोल के जरिये पंचायतों के द्वारा गड़बड़ी की गई  है आदि आदि।

ऐसे प्राप्त करें ऑनलाइन जानकारी- तो दोस्तों सबसे पहले आपको अपने एंड्रॉयड मोबाइल/लेपटॉप के ब्राउजर को खोल लीजिए और उसमें 'मनरेगा' टाइप कर सर्च कर लीजिए।जैसे ही आप ब्राउजर में'मनरेगा सर्च करते हैं 'मनरेगा' का लिंक खुल जाएगा उसे क्लिक कर लीजिए।आप के सुविधा के लिए हम इस आर्टिकल में मनरेगा का लिंक उपलब्ध करा रहे हैं।बस आपको इस आर्टिकल में बताए अनुसार और स्क्रीनशॉट के द्वारा दिखाए अनुसार स्टेप बाई स्टेप पेज को खोलते जाना है।
जैसे ही आप मनरेगा लिखे लिंक को क्लिक करते हैं एक पेज खुलेगा।आपको पेज को ऊपर नीचे खिसकाकर स्क्रीनशॉट के द्वारा दिखाए गए लाल घेरे में लिखे report for MIS को क्लिक करना है।
अब पुनः एक नया पेज खुलेगा जो कि वेरिफिकेशन का पेज होगा।आप कैप्चा कोड के लिए दिए अंक को जोड़ या घटाव कर कैप्चा को enter cancha लिखे स्थान में भर लेंगे।भरने के बाद स्क्रीनशॉट के द्वारा दिखाए अनुसार verify code लिखे स्थान को  क्लिक कर देना है।

जैसे ही आप वेरिफाई कोड को क्लिक करेंगे, अब पुनः एक खुलेगा जो कि फाइनेंसियल ईयर और स्टेट नेम का होगा।आप अपने आवश्यकता अनुसार जिस वित्तीय वर्ष का जानकारी चाहिए।वर्ष को सलेक्ट कर लेना हैऔर उसके नीचे राज्य को सलेक्ट कर भर लेना है।


भरने के बाद आपको उसी पेज के नीचे को ओर आ जाना है।जैसे ही आप पेज के नीचे की ओर आते हैं।सातवें नम्बर पर लिखे R7.financial progress के अंदर पहले नम्बर पर लिखे 1.financial statement को क्लिक करना है।हमनें स्क्रीनशॉट के द्वारा समझाने का प्रयास किया है।
अब जिले का पेज खुलेगा स्क्रीनशॉट के द्वारा दिखाए अनुसार आपको अपने जिले के नाम को क्लिक करना है।आप जिस जिले के अंतर्गत आते हैं जिले के नाम को क्लिक करना है।
जिले के नाम को क्लिक करते ही उस जिले के सभी ब्लॉकों का पेज खुल जायेगा आपको सम्बन्धित ब्लॉक को क्लिक कर लेना है।
सम्बन्धित ब्लॉक (विकास खण्ड) को क्लिक करते ही उस ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले सभी पंचायतों के नाम वाला पेज खुल जाएगा।आपको अपने ग्रामपंचायत के नाम के सामने लाल रंग में लिखे आंकड़े को क्लिक करना है।

मजदूरी दर और कार्य दिवस
अब एक पेज खुलेगा जो कि आपके ग्राम पंचायत द्वारा कराए गए कार्यों और मस्टररोल का पेज होगा।आप सम्बन्धित कार्य के मस्टररोल का अध्ययन कर लीजिए।
इससे आपको आपके द्वारा किये गए कार्य के मजदूरी दर, आपने कितने दिन काम किये हैं,क्या मस्टररोल में फर्जी व्यक्ति का नाम है आदि की जानकारियाँ मिल जाएगी।

मनरेगा ऑनलाइन लिंक में जाने के लिए यहाँ क्लिक करें

इस प्रकार आप घर बैठे ही मनरेगा के अंतर्गत हुए कार्य,मजदूरी दर, कितने दिन आप कार्य किये हैं,क्या पंचायत द्वारा फर्जी मस्टररोल तैयार किया गया है या किसी ऐसे व्यक्ति का मस्टररोल में है जिन्होंने उस कार्य मे काम ही नही किया है,आदि सारी जानकारियाँ मिनटों में प्राप्त कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-

किसान पेंशन योजना की पूरी जानकारी-छत्तीसगढ़।
सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए घर बैठे आवेदन करने की पूरी जानकारी।
वृद्धावस्था पेंशन के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी।
जन्म प्रमाणपत्र के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी
जातिनिवास के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी।
आय प्रमाण पत्र के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी
विवाह प्रमाण पत्र के लिए घर बैठे आवेदन करने की पूरी जानकारी।

राशनकार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी।


दोस्तों आपको यह जानकारी उपयोगी लगा हो तो शेयर जरूर कर देना।इस जानकारी को लेकर आपके मन में कोई सवाल हो या मस्टररोल निकालने में कोई परेशानी हो रही हो तो आप अपना सवाल नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

आपको यह जानकारी कैसा लगा जरूर बताना दोस्तों।धन्यवाद

No comments:

Post a Comment