disability certificate ke aadhar pr vibhinn yojnaon ka ghar baithe labh len. दिव्यांगता सर्टिफिकेट के आधार पर विभिन्न योजनाओं का लाभ घर बैठे लें



दिव्यांगता सर्टिफिकेट के आधार पर विभिन्न योजनाओं का लाभ घर बैठे लें 

फ्रेंड्स , दिव्यांगता को पहले किसी पूर्व जन्म का कर्म माना जाता था ,परन्तु विज्ञान के अविष्कार ने लोगों के इस रूढ़िवादी मान्यताओं को खत्म कर दिया, जब से देश के साथ -साथ प्रदेश में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि हुआ है तब से लोगों को आसानी से स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल पा रहा है। पोलियो की दवा के अविष्कार ने लोगों को एक नई जिंदगी दी है तथा नई पीढ़ी को शारीरिक रूप से अक्षम होने से बचाया है ।


अधिकतर बिमारियों का इलाज सम्भव हो चूका है ,इसके बाद भी लोग या तो अशिक्षा या रूढ़िवादी मानसिकता के कारण डॉक्टर से इलाज कराने के बजाय झाड़ -फूंक में विश्वास रखते हैं ,यही कारण है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में इतनी तरक्की के बाद भी कई बच्चे पोलियो जैसे गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। पोलियो एक ऐसा बीमारी है जो जीवन भर के लिए शारीरिक रूप से अक्षम बना देता है। 



जैसा कि आप सभी जानते हैं पोलियो की दवा का अविष्कार हो चूका है आगनबाड़ी कार्यकर्ता ,मितानिन दीदी या ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर जाकर 0 से 5 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों पोलियो की दवा दी जाती है ,इसी लिए यह बीमारी पुरे देश में जड़ से समाप्त होने के कागार पर है ,परन्तु आज भी ग्रामीण इलाकों की बात करें तो हर एक गॉव में कोई न कोई दिव्यांग जन मिल ही जायेंगे। शासन द्वारा इन दिव्यांगजनों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है।

दिव्यांगता क्या है - 

दिव्यांगता /निःशक्तता /विकलांगता /अपंगता इसे कई नामों से जाना जाता है। जब किसी व्यक्ति का कोई अंग सामान्य व्यक्ति के शारीरिक बनावट के सामान न होकर अलग होता है अर्थात किसी व्यक्ति के शरीर का कोई भी अंग असामान्य हो जाता है ,तो उसे दिव्यांगता कहा जाता है।दिव्यांता के कई प्रकार हो सकते हैं ,श्रवण बिधित ,अस्थि बाधित ,मानसिक ,अधिगम बाधित आदि।

दिव्यांगता प्रमाण पत्र क्या है -

दिव्यांगता प्रमाण पत्र एक ऐसा प्रमाण पत्र है जो यह प्रमाणित करता है कि कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से अक्षम है। दिव्यांगता प्रमाण पत्र यह भी बताता है कि कोई व्यक्ति दिव्यांग है तो किस अंग से है और दिव्यांगता का प्रतिशत कितना है ,यदि कोई दिव्यांगजन किसी भी शासकीय योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसे दिव्यांगता प्रमाण प्रस्तुत करना होता है। 

दिव्यांगता प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं -

दिव्यांगता प्रमाण पत्र दो तरिके से बनवाया जा सकता है ऑफ़ लाइन और ऑनलाइन। ऑफ़लाइन दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाने के तरिके के बारे में तो आपको पता ही होगा। आप ऑनलाइन दिव्यांगता प्रमाण पत्र भी बनवा सकते हैं हम इस आर्टिकल में समाज कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजनों के लिए चलाये जा रहे विभिन्न योजनाओं का लाभ आप घर बैठे कैसे ले सकते हैं ?के बारे में बताने जा रहे हैं।

समाज कल्याण विभाग छत्तीसगढ़ शासन के दिव्यांग जनों के लिए योजनाएं -

👉क्षितिज -अपार सम्भावनाएँ 
👉सामर्थ्य विकास योजना 
👉कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण प्रदाय योजना 
👉दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना 
👉दिव्यांगजन के शिक्षण प्रशिक्षण हेतु शिक्षण संस्थाएं 
👉दिव्यांग कल्याण के क्षेत्र में कार्यरत स्वैच्छिक संस्थाओं को सहायक अनुदान 
👉दिव्यांगजन विवाह प्रोत्सान योजना 
👉जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र योजना  
👉घरौंदा 
👉राष्ट्रिय दिव्यांग पुनर्वास कार्यक्रम 
फ्रेंड्स ,यदि आपके परिवार या समाज में कोई दिव्यांगजन है और इन योजनाओं का लाभ लेना चाहता है तो उसे सबसे पहले दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवाना होगा तथा उसके बाद समाज कल्याण विभाग में अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा।  

समाज कल्याण विभाग में ऑनलाइन पंजीयन क्यों करें -

ऊपर की सभी बातों को पढ़कर आपके मन में एक सवाल जरूर उठ रहा होगा कि समाज कल्याण विभाग में पंजीयन क्यों कराएं ? फ्रेंड्स ,निःशक्त या दिव्यांगजन के लिए जितनी भी योजनाएं संचालित की जा रही है ,चाहे कृत्रिम अंग सहायता या निःशक्त छात्रवृत्ति हो ,सभी समाज कल्याण विभाग की ही योजनाएं हैं। 

ऑनलाइन पंजीयन हेतु आवश्यक सामग्री या तैयारियां  -

👉दिव्यांगता प्रमाण पत्र -pdf फाइल ,फाइल का साइज 1 mb से कम।
👉पॉसपोर्ट फोटो -साइज 25 KB अधिकतम ,फोटो का फाइल टाइप jpg /jpeg/ tif /png .
👉हस्ताक्षर का नमूना

समाज कल्याण विभाग  द्वारा दिव्यांगजनों के लिए चलाये जा रहे योजनाओं का लाभ घर बैठे कैसे लें -



STEP 1.ऑनलाइन दिव्यांगता प्रमाण पत्र के लिए आपको सबसे पहले अपने एंड्राइड मोबाइल /लेपटॉप के ब्राउजर  को open करना होगा तथा उसके गूगल सर्च बार में sw.cg.gov.in टाइप कर सर्च करना होगा ,सर्च करते ही छत्तीसगढ़ समाज कल्याण विभाग का वेबसाइट सर्च सूची में शो होने लगेगा। स्क्रीनशॉट द्वारा दिखाए गए वेबसाइट पर आपको क्लिक करना होगा। 
आपके सुविधा के लिए इस पोस्ट के अंत में छत्तीसगढ़ समाज कल्याण विभाग का लिंक नीचे दिया गया है ,इस आर्टिकल में बताये गए सभी स्टेप को ध्यान से समझ लेने के बाद आप सीधे लॉगिन हो सकते हैं। 

STEP 2.छत्तीसगढ़ समाज कल्याण विभाग के वेबसाइट पर क्लिक करते ही वेबसाइट का home पेज खुल जाएगा ,आपको इस पेज में दायीं ओर नीले कलर के बैकगाउंड वाले लाइन में लिखे दिव्यांगजन पंजीयन पर क्लिक करना होगा। आप स्क्रीनशॉट से भी आइडिया ले सकते हैं।



STEP 3.अब रजिस्ट्रेशन का  फॉर्म खुल जाएगा आपको अपना सामान्य जानकारी दर्ज करना होगा ,इस फॉर्म को 9 बिंदु में बांटा गया है -
1.व्यक्तिगत परिचय-
2.आवेदक पता-
3.सम्पर्क का विवरण-
4.निःशक्तता का विवरण-निःशक्तता प्रमाण पत्र अपलोड करना है।
5.उच्चतम शैक्षणिक योग्यता-
6.आवेदक किस क्षेत्र में रूचि रखता है कृपया विवरण दें-
7.आवेदक का फोटो एवं हस्ताक्षर-
8.घोषणा पत्र-

9.सत्यापन हेतु दर्शित कोड-
 सभी विवरण को भर लेने के बाद अंत में रजिस्टर करें पर क्लिक करना होगा।

STEP 4. इसके बाद एक फॉर्म open होगा फॉर्म में आप किस चीज के लिए अप्लाई करना चाहते हैं जैसे -मुख्यमंत्री तीर्थ योजना ,दिव्यांगजन विवाह आदि, का चयन कर फाइनल सबमिट करना होगा ,जिससे आपके मोबाइल नंबर पर पंजीकरण संख्या और पासवर्ड प्राप्त होगा।ऊपर में योजनाओं का लिस्ट दिया गया है आप जिसके लिए अप्लाई करना चाहते हैं , चयन करना होगा। 

STEP 5.अब कुछ समय के बाद आप अपने आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं कि आपका आवेदन स्वीकृत हुआ नहीं। हम आवेदन करने और आवेदन की स्थिति चेक करने दोनों का लिंक नीचे उपलब्ध करा रहे हैं। 








संबंधित अन्य लिंक

👉छत्तीसगढ़ खाद बीज लाइसेंस बनवाने  के लिए ऑनलाइन आवेदन ऐसे करें  
👉किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करें छत्तीसगढ़ 
👉राशनकार्ड कंप्लेंट ऑनलाइन कैसे करें 
👉आज का मंडी भाव पता करें छत्तीसगढ़ 
फ्रेंड्स ,हमारे दिव्यांग भाई-बहनों के लिए यह जानकारी बहुत ही उपयोगी है ,इस जानकारी के मदद से वे घर बैठे समाज कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजनों के लिए चलाये जा रहे किसी भी योजनाओं लाभ ले सकते हैं, इस जानकारी को सभी डियांगजनों तक शेयर जरूर करें। आपको यह जानकारी कैसा लगा कमेंट के माध्यम से हमें जरूर अवगत करना। धन्यवाद ,जय जोहार  


Post a comment

0 Comments