मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना के लिए आवेदन कैसे करें mukhyamantri bal hriday suraksha yojana chhattisgarh

जय जोहार साथियों, छत्तीसगढ़ शासन के योजनाओं से जुड़ी जानकारी उपलब्ध कराने वाले आपका अपना जाना पहचाना वेबसाइट hamargaon. com पर एक बार फिर से स्वागत है, आज हम आपके के लिए शासन के एक महत्वपूर्ण योजना बाल हृदय योजना की जानकारी साझा करने जा रहे हैं । 


दोस्तों ,जैसाकि आप सभी जानते हैं स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या कभी भी किसी भी व्यक्ति या परिवार के साथ हो सकती है ,शासन द्वारा विभिन्न योजनाओं में आर्थिक सहायता प्रदान करती है ,परन्तु ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी नही होती है | यह जानकारी खासकर बाल हृदय रोग से पीड़ित बच्चों से जुड़ी है ,इस लिए छत्तीसगढ़ के हर एक व्यक्ति को इसकी जानकारी जरुर रखना चाहिए |

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 28 जुलाई 2008 को हृदय रोग से पीड़ित बच्चों के लिए मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना की शुरुआत किया गया है । इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ के अभी तक लाखों बच्चों को एक नई जीवन मिल चुका है। इस योजना की और व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है।

उद्देश्य -

प्रदेश में एक से पंद्रह वर्ष तक के बच्चे जो हृदय रोग से पीड़ित हैं ,ऐसे बच्चों को हृदय रोग से मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना का शुरुआत किया गया है | इस योजना के अंतर्गत साथ प्रकार के हृदय रोगों का सरकारी व्यय पर इलाज और हृदय की शल्य क्रिया मान्यता प्राप्त चिकित्सालयों में कराया जाता है |इस योजना की शुरुआत 28 जुलाई 2008 को मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा किया गया है |

एक वर्ष से कम उम्र के ऐसे पीड़ित बच्चे जिन्हें तत्काल उपचार की आवश्यकता है ,शासन द्वारा गठित तकनीकी समिति से अनुमोदन प्राप्त कर प्रदेश एवं देश के मान्यता प्राप्त संस्थानों में चिकित्सकों के अनुशंसा उपरांत उपचार हेतु भेजे जाते हैं |

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना का लाभ -

इस योजना के अंतर्गत हृदय रोग से पीड़ित बच्चे के ऑपरेशन के लिए 1 लाख 30 हजार रूपये और यदि हृदय का वाल्व बदला जाता है तो 50 हजार रूपये अतिरिक्त स्वीकृत किया जाता है |  यदि राज्य के बाहर इलाज की आवश्यकता होती है तो शासन द्वारा सम्बन्धी अस्पताल को चेक जारी किया जाता है | इस प्रकार सर्जरी के लिए 1.30 लाख तथा वाल्व रिप्लेसमेंट की स्थिति में 50 हजार अतिरिक्त कुल 1 लाख 80 हजार आर्थिक सहायता राज्य शासन द्वारा उपलब्ध कराया जाता है |

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के लिए पात्रता -

• छत्तीसगढ़ का मूल निवासी होना चाहिए 

• लाभ लेने वाला परिवार गरीब तबके का होना चाहिए 

• लाभ लेने वाले व्यक्ति का सालाना आय 1 लाख से अधिक नही होना चाहिए 

• लाभ लेने वाला नौकरी पेशे में नही होना चाहिए |

• बच्चे का उम्र 1 वर्ष से 15 वर्ष तक होना चाहिए |

शासन द्वारा अनुबंधित अस्पतालों की सूची -

1. अपोलो बी.एस.आर. अस्पताल भिलाई 

2. एस्कार्ट हार्ट सेंटर रायपुर 

3. रामकृष्ण अस्पताल रायपुर 

4. अपोलो अस्पताल बिलासपुर 

आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज -

• सिविल सर्जन द्वारा रोग का प्रमाण पत्र 

• यदि परिवार गरीबीरेखा में शामिल नही है तो तहसीलदार द्वारा प्रमाणित आय प्रमाण पत्र 

• पूर्व में इलाज किये गये कागजों की कॉपी 

मतदाता पहचान पत्र या आधार कार्ड की कॉपी 

• निवास प्रमाण पत्र 

• राशन कार्ड की कॉपी 

आवेदन प्रक्रिया -

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना का लाभ लेने के लिए जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अथवा सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक कार्यालय से आवेदन पत्र निःशुल्क प्राप्त किया जा सकता है |बीमारी के सम्बन्ध में सिविल सर्जन का प्रमाण पत्र संलग्न करना अनिवार्य है |आवेदन पत्र सम्बन्धित चिकित्सा अधिकारी अथवा राज्य नोडल अधिकारी मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना ,संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें को जमा किया जा सकता है |

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के लिए आवेदन करने हेतु अपने मोबाइल से 104 पर काल कर विस्तृत जानकारी प्राप्त किया जा सकता है |


यह जानकारी छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए बहुत ही उपयोगी है ,इस जानकारी को अधिक से अधिक लोगों को साझा जरुर करें ,हो सकता है आपका एक छोटा सा प्रयास किसी बच्चे को एक नई जीवन प्रदान कर दे ,इसके अलावा इस योजना से जुडी जानकारी तथा आवेदन प्रक्रिया के सम्बन्ध में 104 पर कॉल कर जानकारी प्राप्त जरुर करें |

Post a Comment

0 Comments