how to get bank statement from PFMS पीएफएमएस पोर्टल से घर बैठे निकालें पेमेंट स्टेटमेंट

PFMS Know your payment,PFMS Bank balance check,PFMS login know your Payment,PFMS status

हेलो फ्रेंड्स, pfms से जुड़ी एक नई जानकारी के साथ एक बार फिर से आपका हमारे वेबसाइट पर स्वागत है, पिछली पोस्टर में हमने आपसे वंडर्स को किए गए भुगतान से जुड़ी जानकारी आपसे साझा किए थे उम्मीद है, आपको उक्त जानकारी से आपके द्वारा किए गए भुगतान सफल हुआ या नहीं चेक करने में मदद जरूर मिला होगा। आज हम आपसे आपके द्वारा किये गए भुगतान vendors के एकाउंट में  पहुंचा या नहीं से जुड़ी जानकारी साझा करने जा रहे हैं।

दोस्तों जैसा की आपको विदित है , शिक्षा सत्र 2021-22 हेतु जारी शाला अनुदान राशि का pfms पोर्टल के माध्यम से सफलतापूर्वक भुगतान आपके द्वारा vendors को कर दिया गया है, परंतु एक ही व्यक्ति या फर्म को एक से अधिक एजेंसी द्वारा vendors बनाये जाने के कारण वे स्पष्ट नहीं कर पा रहे हैं ,कि आपके द्वारा किया गया भुगतान उनके अकाउंट में जमा हुआ है या नहीं। आज हम आपसे जो जानकारी साझा करने जा रहे हैं ,उसके मदद से कोई भी vendors आसानी से चेक कर सकते हैं, कि अभी तक उनके अकाउंट में किन-किन एजेंसी द्वारा किए गए भुगतान की राशि जमा हुआ है। 

इसे भी पढ़ें - pfms पोर्टल से पता करें आय व्यय रिपोर्ट 

Vendors को स्टेटमेंट के लिए बैंक का चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं-

इस संबंध में जो जानकारी मिली है , उसके अनुसार बहुत से vendor उनके अकाउंट में किन-किन बेनेफिशरी का पेमेंट जमा हुआ है, जानने के लिए जानकारी के अभाव में बैंक का चक्कर लगा रहे हैं।  pfms पोर्टल पर सुविधा दी गई है कि कोई भी vendor अपने बैंक का अकाउंट स्टेटमेंट घर बैठे ही आसानी से चेक कर सकते हैं ।

vendors account स्टेटमेंट हेतु आवश्यक जानकारी-

* vendors का अकाउंट नंबर

* पंजीकृत मोबाइल नंबर

इसे भी पढ़ें अपने pfms लॉग इन पर vendors कैसे ऐड करें

vendors कैसे चेक करें किसी एजेंसी द्वारा किया गया भुगतान आपके अकाउंट में जमा हुआ है या नहीं -

स्टेप 1- कोई भी vendors जो अपने अकाउंट का स्टेटमेंट चेक करना चाहते हैं ,उसे सबसे पहले अपने एंड्राइड मोबाइल या लैपटॉप के ब्राउज़र को ओपन करना है तथा उसके सर्चबार में pfms टाइप कर सर्च करना है। सर्च करते ही भारत सरकार पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम का ऑफिशल वेबसाइट स्क्रीन पर प्रकाशित होने लगेगा आपको उस पर क्लिक करना है।

यदि आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद भारत सरकार पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम के साइड में रीडायरेक्ट होना चाहते हैं, तो उसका लिंग ऊंचे उपलब्ध कराया जा रहा है ।पूरी प्रक्रिया को समझने के बाद आप नीचे दिए गए लिंक माध्यम से सीधे pfms पोर्टल पर रीडायरेक्ट हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें bulk customization के माध्यम से एक से अधिक vendors को भुगतान कैसे करें

स्टेप 2- अब भारत सरकार पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम के वेबसाइट का ऑफिशियल पेज स्क्रीन पर प्रकाशित होने लगेगा ,चूंकि आप वंडर्स हैं, इसलिए आप pfms पोर्टल पर login नहीं हो सकते, परंतु आप अपने account statement जरूर चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको होम पेज पर दिए गए know your payment के इंटरफ़ेस पर क्लिक करना है।



स्टेप 3- इस तरह आपके अकाउंट नंबर दर्ज करने का पेज ओपन हो जाएगा, सबसे पहले आपको bank के इंटरफेस पर आपका अकाउंट नंबर जिस बैंक में उस बैंक के नाम का कुछ कैरेक्टर टाइप करना है। उदाहरण के लिए यदि आपका बैंक अकाउंट भारतीय स्टेट बैंक में है तब आपको state bank of india टाइप करना है जिससे उक्त बैंक का नाम प्रदर्शित होने लगेगा, आपको उस पर क्लिक करना है , जिससे वह दिए गए इंटरफेस पर फील हो जाएगा। इसके बाद enter account number के इंटरफेस पर अपना अकाउंट नंबर दर्ज करना है तथा enter confirm account number के इंटरफेस पर उसी अकाउंट नंबर को पुनः दर्ज करना है । अंत में दिए गए कैप्चा कोड को word verification के इंटरफेस पर एंटर करने के बाद send to OTP on registered mobile No पर क्लिक करना है |


स्टेप 4- अब आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक OTP प्राप्त होगा , OTP दर्ज करने के पश्चात आपको verify OTP पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही आपके अकाउंट नंबर पर एजेंसीवार क्रेडिट अमाउंट प्रदर्शित होने लगेगा। आप चाहें तो इसे पीडीएफ के रूप में डाउनलोड कर सकते हैं। 

आप इसमें स्कीम का नाम, किस परपस से आप को भेजा गया है अर्थात स्किम कंपोनेंट, एजेंसी का नाम, क्रेडिट ट्रांजैक्शन आईडी ,पेमेंट मेथड, अमाउंट, स्टेटस, क्रेडिट डेट आदि चेक कर सकते हैं। यदि स्टेटस में success प्रदर्शित होता है इसका मतलब यह है कि संबंधित एजेंसी द्वारा भेजी गई राशि आपके अकाउंट में जमा हो चुका है।   

इस प्रकार कोई भी vendor अपने अकाउंट का ट्रांजैक्शन डिटेल/ स्टेटमेंट चेक कर सकते हैं।  इस जानकारी को शेयर जरूर करें, क्योंकि कई स्कूलों द्वारा एक ही व्यक्ति या फर्म को vendor बनाया गया है, जिसके कारण वे स्पष्ट नहीं कर पा रहे हैं कि किस स्कूल की राशि उनके अकाउंट में जमा हुआ है और किस स्कूल का ट्रांजैक्शन सफल नहीं हो पाया है।

Post a Comment

1 Comments