education portal cg nic in rte 2020-2021 क्या आप अपने बच्चे को अच्छे से अच्छे प्राइवेट स्कूलों में फ्री में पढ़ाना चाहते हैं; यहाँ से करें ऑनलाइन आवेदन - हमर गांव

Latest

Tuesday, 12 March 2019

education portal cg nic in rte 2020-2021 क्या आप अपने बच्चे को अच्छे से अच्छे प्राइवेट स्कूलों में फ्री में पढ़ाना चाहते हैं; यहाँ से करें ऑनलाइन आवेदन



छत्तीसगढ़ में शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत निजी शालाओं में निःशुल्क प्रवेश हेतु ऑनलाइन आवेदन, सत्र 2020 -2021 
दोस्तों नमस्कार,आप सभी शिक्षा के अधिकार कानून 2009 के बारे में जरूर सुने होंगे।इस कानून के अंतर्गत 6-14 वर्ष आयु वर्ग के सभी बच्चों के लिए शासकीय शालाओं में निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का प्रावधान किया गया है,जी हाँ दोस्तों हमारे देश के सभी राज्यों में यह कानून 1अप्रैल सन 2010 में लागू किया गया है। तब से लेकर आज तक सभी शासकीय शालाओं में 6-14 वर्ष आयु वर्ग के सभी बच्चों को निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा दिया जाता है।



जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे देश में लाखों परिवार ऐसे हैं जो गरीबीरेखा के नीचे जीवन यापन करते हैं।लाखों परिवार ऐसे हैं जो कि पूरे दिन भर मेहनत करने के बाद भी दो वक्त की रोटी मुश्किल से जुटा पाते हैं,ऐसे में आप सोच सकते हैं कि ऐसे परिवार अपने बच्चों को कैसे स्कूल भेज सकते हैं।इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए,2009 में एक कानून बनाया गया।जिसका नाम है "शिक्षा का अधिकार कानून।"


हमारे देश में लाखों लोग ऐसे हैं जो आज भी निरक्षर हैं। पुरे दिन मेहनत करके अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी जुटा पातें हैं। खुद फ़टे कपड़े में दिन गुजार देते हैं ,पर अपने बच्चों को ओ सारी सुविधाएँ देना चाहते हैं जो एक साधन सम्पन्न व्यक्ति अपने बच्चों के लिए करता है ,यदि शिक्षा की बात करें तो वे अपने बच्चों को अच्छे से अच्छे स्कूल में पढ़ाना चाहते हैं ,परन्तु आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण ऐसा नहीं कर पाते।

निजी स्कूलों का महंगा फ़ीस चुका पाना उनके लिए असम्भव हो जाता है।यह समस्या बहुत ही लम्बे समय से चला आ रहा था। अमीरी और गरीबी के बिच खाई बढ़ता ही जा रहा था, शिक्षा शास्त्री इस समस्या को लेकर बहुत ही चिंतित थे ,इस प्रकार 2009 में अमीरी और गरीबी के बीच की खाई को कम करने तथा सभी बच्चों को एक समान शिक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से एक कानून बनाया गया ,जिसे शिक्षा का अधिकारी कानून कहा गया।   

दोस्तों शिक्षा का अधिकार कानून में कई प्रावधान किए गए हैं,पर इस आर्टिकल में हम उस प्रावधान के बारे में बात करने वाले हैं जिसके तहत निजी शालाओं में भी इन अभावग्रस्त परिवारों के बच्चों लिए भी निःशुल्क शिक्षा का प्रावधान किया गया है।

जी हाँ दोस्तों आप इस प्रावधान के तहत किसी भी निजी शाला में अपने बच्चों को निःशुल्क प्रवेश दिला सकते हैं।निजी शालाओं में प्रवेश हेतु आपको कुछ प्रक्रिया का पालन करना पड़ेगा।हम पूरी प्रक्रिया की जानकारी देंगे,उससे पहले शिक्षा का अधिकार कानून क्या है यह जान लेते हैं।


शिक्षा का अधिकार कानून(RTE)-
RTE(right to education)शिक्षा का अधिकार कानून।2009 में शिक्षा के महत्व को ध्यान में रखकर एक कानून बनाया गया जिसके अंतर्गत पूरे देश में 6-14 आयु वर्ग के बच्चों को निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का प्रावधान किया गया।इसे ही बाल शिक्षा का अधिकार कानून कहा गया।

rte के तहत निजी शालाओं में निःशुल्क प्रवेश हेतु आवश्यक शर्तें-
1.दुर्बल वर्ग(ews)-
🔹गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाला परिवार ।
🔹HIV संक्रमित माता पिता या  बच्चे।
या
2.असुविधाग्रस्त वर्ग(dg)-
🔹अनुसूचित जाति वर्ग ।
🔹अनुसूचित जनजाति वर्ग।
🔹परिलक्षित आदिम जाति समूह।
🔹ऐसे बालक जो 40℅ दिव्यांग हो।

आवश्यक दस्तावेज -
जन्म प्रमाण पत्र ( विद्यार्थी का )
पता सत्यापन हेतु (अभिभावक का )
पहचान सत्यापन हेतु (अभिभावक का )
राशन कार्ड की छायाप्रति 
दिव्यांगता प्रमाण पत्र की छायाप्रति 
पासपोर्ट साइज फोटो 


आवेदन तिथि-
आवेदन दिनाँक-01.03.2020 दोपहर 12 बजे से आमंत्रित है।निर्धारित संख्या से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर चयन प्रक्रिया ड्रा या अन्य तरीके से किया जाता है।


RTE के तहत निजी शालाओं में निःशुल्क प्रवेश हेतु ऑनलाइन आवेदन ऐसे करें-
ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी हम स्टेप बाई स्टेप आप लोगों से साझाकर रहे हैं आशा है आप पूरी प्रक्रिया का अध्ययन करने के बाद ऑनलाइन फार्म आसानी से भर पाएँगे।साथ ही इस आर्टिकल के अंत में rte के तहत online farm भरने के लिए लिंक भी उपलब्ध करा रहे हैं ।पूरी प्रक्रिया को समझ लेने के बाद आप इस आर्टिकल से ही rte के वेबसाइट में जाकर online farm भरकर सब्मिट कर सकते हैं।


Step1-सबसे पहले आपको अपने एंड्राइड मोबाइल /लेपटॉप के ब्राउजर को open करना होगा तथा उसके गूगल सर्च बार में right to education cg टाइप कर सर्च करना होगा।सर्च करते ही rte पोर्टल छत्तीसगढ़ का वेबसाइट स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा।स्क्रीनशॉट द्वारा दिखाए गए अनुसार आपको उस पर क्लिक करना होगा।  

step 2. अब शिक्षा का अधिकार पोर्टल का home पेज खुल जायेगा , इस पेज में आपको सत्र 2020-21 हेतु नया आवेदन भरें पर क्लिक करना होगा। 


 step 3.क्लिक करते ही एक नया पेज खुल जायेगा, उसके अंदर तीन ऑप्शन दिखाई देगा ,पहला नया आवेदन भरें ,दूसरा भरे हुए आवेदन प्रिंट करें ,तीसरा आवेदन की स्थिति देखें। आपको नया आवेदन भरें पर क्लिक करना  होगा ,इस प्रकार online registration form खुल जायेगा ।पूरे फॉर्म को 5 भागों में भरना होगा ।



भाग 1-
इस भाग में जिले का नाम चयन करना है,ग्रामीण या शहरी चुनना है। शहरी चुनते हैं तो नगरीय निकाय का नाम ,वार्ड और मुहल्ले के नाम चयन करना है।
यदि ग्रामीण चयन करते हैं तो विकास खण्ड,ग्रामपंचायत, मुहल्ले के नाम चयन करना है। उसके बाद जन्मतिथि और बच्चे का लिंग चयन करना है।अब नीचे दिए गए निर्देशों को ध्यान से पढ़ लेना है।इन निर्देशों में उम्र के अनुसार कक्षा चयन के बारे में बताया गया है।निर्देशों को पढ़ लेने के बाद स्कूल देखें पर क्लिक करना है।




भाग 2-
जैसे ही आप स्कूल देखें को क्लिक करते हैं,वहाँ के निजी शालाओं का लिस्ट दिखाई देगा।उम्र के अनुसार कक्षा ऑटोमेटिक सलेक्ट हो जाएगा और उस कक्षा में rte के तहत कितने सीट है दिखने लगेगा। प्रदर्शित इन शालाओं के अंतिम कालम में लिखे प्राथमिकता में पहला, दूसरा ,तीसरा तय कर लेना है।अब नीचे लिखे select selected schools पर  क्लिक करना है।इस प्रकार सभी स्कूलों का लिस्ट प्राथमिकता के क्रम में नीचे दिखने लगेगा।
भाग3-
इस भाग में विद्यार्थी का विवरण देना पड़ेगा।
वर्ष-
दिनाँक-
आधार कार्ड नम्बर-
पता-
विद्यार्थी का नाम-
लिंग-
जाति(वर्ग)-
पिन कोड-
सभी जानकारियों को भरने के बाद माता-पिता का विवरण भरना है।आप माता-पिता में से किसी एक का नाम भर सकते हैं।मोबाइल नम्बर वाले कालम में मोबाइल नम्बर भरना अनिवार्य है।




भाग4-
इस भाग में आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी देना है।
जन्म का सत्यापन(बच्चे का )-
पते का सत्यापन(अभिभावक का)-
पहचान का सत्यापन(अभिभावक का)-
जो भी दस्तावेज है उसमें टीक करना है।




भाग5-
इस भाग में आवेदक का विवरण (योग्यता के दस्तावेज की जानकारी)
आवेदित वर्ग-दुर्बल वर्ग में टीक करना है।
योग्यता- बी पी एल में क्लिक करना है
मूलभूत दस्तावेज-बी पी एल में क्लिक करना है।
और अंत में घोषणा को टीक करने के बाद आगे बढ़ें को ओके कर देना है।
Step3.-जैसे ही आप आगे बढ़ें को क्लिक करते हैं एक नया पेज खुल जाएगा जो कि भरे गए फार्म का प्रिंट वाला पेज होगा।आपको प्रिंट करें को ओके कर देना है। 

इस प्रकार rte के तहत निजी शालाओं में अद्वितिओं हेतु फॉर्म सब्मिट हो जायेगा , भरे हुए फार्म का प्रिंट निकलवाकर बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र ,पालक का आधार कार्ड और बी.पी.एल.कार्ड की फोटोकॉपी के साथ सम्बन्धित निजी शाला में जाकर जमा कर देना है।

RTE प्रवेश में समस्या होने पर शिकायत ऐसे करें

STEP 1.RTE के तहत ऑनलाइन अप्लाई करने पर किसी भी प्रकार की समस्या होती है तो आप शिक्षा का अधिकार कानून पोर्टल छत्तीसगढ़ के वेबसाइट के होम पेज पर दिए सम्पर्क /समस्या निवारण पर क्लिक करना होगा। 

STEP 2.अब एक फॉर्म का प्रारूप open होगा ,जिसमें आपको चाही गई जानकारी को फील अप करना होगा। जैसे -समाधान कर्ता -DEO /NODAL /DPI /PRIVATE SCHOOL 
जिनसे समस्या है -DEO /NODAL /DPI /PRIVATE SCHOOL/OTHER 
किस संदर्भ में -STUDENT /DEO /NODAL /DPI /PRIVATE SCHOOL/OTHER   

नाम- 
मोबाइल नंबर- 
ईमेल -
समस्या का विवरण -50 से 500 अक्षरों में 
अंत में सुरक्षित करें पर क्लिक करना होगा। 
इस प्रकार आपका शिकायत /समस्या का समाधान संबंधित अधिकारी /स्कूल द्वारा किया जायेगा। 

Online आवेदन हेतु यहाँ क्लिक करें


इसे भी पढ़ें-
🔹सैलरी स्लिप ऑनलाइन निकालें मिनटों में अपने मोबाइल से-छत्तीसगढ़।

🔹छत्तीसगढ़ डाक पिन कोड पता करें मिनटों में।

🔷श्रमिक कार्ड हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें मिनटों में।

🔷अंतर जाति विवाह प्रोत्साहन योजना -छत्तीसगढ़।

🔷मनरेगा की पूरी जानकारी -छत्तीसगढ़।

किसान पेंशन योजना की पूरी जानकारी-छत्तीसगढ़


दोस्तों वर्तमान की इस महँगी शिक्षा प्रणाली में rte गरीब परिवारों के लिए किसी वरदान से कम नही है।अतः आप लोगों से निवेदन है कि इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर जरूर करें ,क्योंकि इसके लिए मात्र एक माह का समय ही दिया गया है।यदि ऑनलाइन फार्म भरने या शाला के चयन में किसी भी प्रकार की परेशानी होती है तो आप इस फार्म में दिए गए टोलफ्री नम्बर पर मिसकॉल कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं या अपने नजदीकी नोडल अधिकारी से सम्पर्क कर सकते हैं।आशा है यह जानकारी आपको पसन्द आया होगा।आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट के माध्यम से जरूर दें। धन्यवाद


No comments:

Post a comment