उत्तर प्रदेश के बाद अब इस राज्य में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में अपात्र किसानों को वसूली का नोटिस

 प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना लाभ ले रहे अपात्र किसानों से वसूली आदेश जारी करने वाले राज्यों में उत्तर प्रदेश के साथ एक और राज्य का नाम जुड़ गया है । प्राप्त जानकारी के अनुसार अब हिमाचल प्रदेश में भी  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे अपात्र किसानों को नोटिस जारी किया गया है।

भारत सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हेतु किसान सम्मान निधि योजना शुरू किया गया है , परंतु इस योजना का लाभ  कई अपात्र किसानों द्वारा भी लिया जा रहा है । हिमाचल प्रदेश में फर्जी तरीके से 11388 आयकर देने वाले किसानों ने किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लिया है उन्हें ₹11,95,22,000 रुपये का भुगतान किया गया है मामले के खुलासे के बाद ऐसे किसानों से वसूली का आदेश जारी किया गया है साथ ही सरकार द्वारा ऐसे किसानों पर कार्रवाई करने को भी कहा गया है।

 तीन किस्तों में प्रदान की जाती है ₹6000-

 भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों आर्थिक सहयोग दी जाती है इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ की बात करें तो सरकार द्वारा प्रत्येक 4 महीने में दो ₹2000 सीधे ग्राहकों के खाते में ट्रांसफर किया जाता है इस प्रकार साल में कुल ₹6000 आर्थिक सहायता के रूप में दी जाती है।

 उत्तर प्रदेश में जारी हो चुका है वसूली का आदेश-

 उत्तर प्रदेश में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे किसानों से वसूली का आदेश जारी किया जा चुका है | अकेले ही मैनपुरी जिले में 9000 से अधिक अपात्र किसान पाए गए हैं, जिसकी सूची कृषि विभाग को भेज दी गई है | कृषि विभाग द्वारा पात्रता का पड़ताल कर वसूली की कार्यवाही की जा रही है।

उत्तर प्रदेश में पति -पत्नी के नाम पर जमीन फिर भी वसूली-

 प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में पति-पत्नी की दोनों के नाम पर जमीन होने के बावजूद भी एक ही परिवार के 2 लोगों को प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल सकता करके वसूली का नोटिस थमाया गया है। किसानों का कहना है कि यदि ऐसा था तो पहले स्पष्ट करना था कि एक ही परिवार के दो लोग प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नही ले सकते |

हिमाचल प्रदेश में  जिलावार अपात्र किसान-

 यदि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की बात करें तो लगभग पूरे हिमाचल प्रदेश में अपात्र किसान पाए गए हैं। बिलासपुर में 1012 ,चंबा में 391, हमीरपुर में 915 ,कांगड़ा में 2409, किन्नौर में 51 ,कुल्लू में 753 ,लाहौल स्पीति में 33, मंडी में 1889, शिमला में 672 ,सिरमौर में 522, सोलन में 1498, उना में 1243 किसान अपात्र पाए गए हैं।

 छत्तीसगढ़ में ऐसी कोई खबर नहीं-

 छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए राहत भरी खबर हैं | प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे अपात्र किसानों से वसूली की बात करें तो छत्तीसगढ़ में अभी तक ऐसी कोई खबर नहीं है। 

Post a Comment

0 Comments