rajiv gandhi kisan nyay yojna 2022 ka stetus check karen राजीव गाँधी किसान न्याय योजना का स्टेटस चेक करें

rajiv gandhi kisan nyay yojana ,rajiv gandhi kisan nyay yojana ka status,राजीव गांधी किसान न्याय योजना list,राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2022,राजीव गांधी किसान न्याय योजना कितने किस्तों में दी जाएगी,राजीव गांधी किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़,

हेलो फ्रेंड्स, छत्तीसगढ़ का आपका अपना जाना पहचाना वेबसाइटwww.hamargaon.com पर एक बार फिर से आपका स्वागत है, आज हम छत्तीसगढ़ शासन की महत्वपूर्ण योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना से जुड़ी उपयोगी जानकारी साझा करने जा रहे हैं। जिसके मदद से आप जान पाएंगे, कि अभी तक आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत कितना किस्त जारी हो चुका है और किस्तवार कितना राशि प्राप्त हुआ है।

यदि आप भी जानना चाहते हैं कि शासन द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत अभी तक आपके खाते में किश्तवार कितना राशि जारी किया गया है, तो इस आर्टिकल को अंतर ध्यान से जरूर पढ़ें।

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य के किसानों को अधिकतम लाभ पहुंचाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना एक ऐसा योजना है जिसके तहत किसानों को धान, गन्ना जैसे फसलों के समर्थन मूल्य की अंतर राशि या बोनस को किसानों को सीधे उनके खाते में ट्रांसफर किया जाता है।

इसे भी पढ़ें - धान खरीदी किसान पंजीयन लिस्ट 

rajiv gandhi kisan nyay yojana cg- राजीव गांधी न्याय योजना क्या है

छत्तीसगढ़ में इस योजना की शुरुआत 21 मई  2020 को किया गया था इसके अंतर्गत सरकार किसानों को समर्थन मूल्य की अंतर राशि को किसानों को 4 किस्तों में हस्तांतरित करती है। ताकि किसानों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाया जा सके और उन्हें फसल का उचित मूल्य मिल सके।

राजीव गांधी जी किसान न्याय योजना के लाभ-

♦ इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी किसानों को सरकार द्वारा उनके फसल का समर्थन मूल्य प्रदान करती है।

♦ इस योजना के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार और उनकी आय में वृद्धि होगी।

♦ खाद बीज के क्रम में आ रही व्यय को वहन कर सकेगा।

♦ समर्थन मूल्य पर किए गए धान खरीदी की अंतर राशि को  डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी को सीधे उनके अकाउंट ट्रांसफर की जाएगी।

 ♦ इस योजना से कृषि को बढ़ावा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें -धान खरीदी किसान कोड पता करें 

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए आवेदन-

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है यह उन्हीं किसानों को प्रदान की जाती है जो समर्थन मूल्य पर धान बिक्री हेतु पंजीयन कराएं हैं। यदि आपने समर्थन मूल्य पर धान बिक्री हेतु पंजीयन कराए हैं , तब आपके द्वारा विक्रय किए गए धान के समर्थन मूल्य की अंतर राशि को इस योजना के माध्यम से जारी किया जाता है।

बहुत से वेबसाइट आप देखेंगे जिसमें राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की बात कही गई है परंतु इसके लिए आपको अलग से पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है यदि आप एकीकृत किसान पोर्टल पर पंजीकृत हैं, और समर्थन मूल्य पर धान का विक्रय किए हैं तब आपको इस योजना का लाभ मिलेगा। क्योंकि यह स्वतंत्र रूप से अलग योजना नहीं है।

यह समर्थन मूल्य पर किए गए धान या अन्य फसल जो शासन द्वारा निर्धारित है के विक्रय के अंतर राशि को प्रदान करने की एक योजना है।इसलिए इसमें अलग से पंजीयन की आवश्यकता नहीं है।राजीव गांधी किसान न्याय योजना की संपूर्ण डाटा एकीकृत किसान पोर्टल से ही लिया जाता है।

इसे भी पढ़ें -अपने आसपास डीलर के पास खाद का स्टॉक पता करें 

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का स्टेटस चेक करने हेतु आवश्यक जानकारी-

UF ID

या 

धान खरीदी में दर्ज कृषक कोड

या 

खाता क्रमांक

राजीव गांधी किसान न्याय योजना स्टेटस लाभार्थी लॉगइन-

किसान भाइयों हम बताना चाहेंगे कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना का  स्टेटस चेक करने के लिएलाभार्थी को login करने का ऑप्शन नहीं दिया गया है इसलिए आप स्वयं से राजीव गांधी किसान न्याय योजना का स्टेटस चेक नहीं कर सकते हैं,  स्टेटस चेक करने के लिए आपको DDA /TAHSILDAR /SADO /RAEO /RHEO / समिति  के पास जाना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें - यूरिया ,डीएपी ,अन्य खाद का प्राइस 2022

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का स्टेटस कैसे चेक करें-

स्टेप 1- जैसा कि हम बता चुके हैं, लाभार्थी ऑनलाइन अपना स्टेटस नहीं चेक कर सकते इसके लिए आपको अपने  DDA /TAHSILDAR /SADO /RAEO /RHEO / समिति के पास जाना पड़ेगा, क्योंकि इनके पास पोर्टल में login के लिए आईडी पासवर्ड उपलब्ध है।

सबसे पहले अपने मोबाइल या लैपटॉप के ब्राउज़र को ओपन करना है, ओपन करने के बाद  उसके सर्च बार में  राजीव गांधी किसान न्याय योजना हिंदी या अंग्रेजी में rajiv gandhi kisan nyay yojana  टाइप कर सर्च करना है, सर्च करते ही छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना का ऑफिशल वेबसाइट स्क्रीन पर प्रदर्शित होने लगेगा आपको उस पर क्लिक करना है।

स्टेप 2- इस तरह राजीव गांधी किसान या योजना का ऑफिशल वेबसाइट का होम पेज ओपन हो जाएगा इस पेज में आपको दायीं ओर दिए गए login  के इंटरफ़ेस पर क्लिक करना है।

इस तरह DDA /TAHSILDAR /SADO /RAEO /RHEO / समिति लॉगिन हेतु इंटरफ़ेस ओपन हो जाएगा। जिस भी स्तर का अधिकारी या कर्मचारी पोर्टल पर लगीन कर रहे हैं वे सबसे अपना स्तर चयन करेंगे उसके पश्चात अपने आईडी और पासवर्ड दर्ज कर नीचे दिए गए कैप्चा कोड को दर्ज करेंगे और अंत में लॉगिन करें पर क्लिक करेंगे ।

स्टेप 3-  लॉग इन करने के पश्चात राजीव गांधी किसान न्याय योजना का डैशबोर्ड स्क्रीन पर ओपन हो जाएगा। यहां पर आपको एकीकृत किसान पोर्टल पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही आपको

♦ डैसबोर्ड 

♦ कृषक सत्यापन

♦ भुगतान की जानकारी

♦ भुईया की जानकारी

♦ धान खरीदी की जानकारी

का इंटरफ़ेस दिखाई देगा, इनमें से आपको भुगतान की जानकारी पर क्लिक करना है।

स्टेप 4 -इसके बाद पुनः एक न्यू इंटरफेस स्क्रीन पर ओपन हो जाएगा, यहां आपको राजीव गांधी किसान योजना के भुगतान की जानकारी वर्ष  सहित लिखा दिखाई देगा। ठीक उसके नीचे सर्च का प्रकार लिखा इंटरफ़ेस दिखाई देगा यहां आप जिस भी माध्यम से किसान को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत प्राप्त राशि का स्टेटस देखना चाहते हैं उसका चयन करना है। जैसे - UF ID / धान खरीदी में दर्ज किसान कोड/ खाता क्रमांक  इसके पश्चात चयन किए गए अनुसार यू एफ आई डी / धान खरीदी में दर्ज किसान कोड/ खाता क्रमांक दर्ज कर देखें पर क्लिक करना है।

स्टेप 5- 'देखें' पर क्लिक करते ही संबंधित किसान को किश्तवार भुगतान की पूरी जानकारी स्क्रीन पर प्रदर्शित होने लगेगी। जिला, विकासखंड,समिति का नाम,यूएफआईडी, धान खरीदी में दर्ज कृषक कोड, किसान का नाम, उसका खाता क्रमांक, आईएफएससी कोड, किसान को भुगतान हेतु कुल राशि,  जारी किस्त की राशि तथा स्थिति आदि चेक कर सकते हैं।


👉राजीव गांधी किसान न्याय योजना का स्टेटस चेक करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

उम्मीद है आजकल यह जानकारी आपको पसंद आया होगा,छत्तीसगढ़ से जुड़ी इसी तरह की उपयोगी जानकारी इस वेबसाइट के माध्यम से साझा किया जाता है, इसलिए आप हमारे वेबसाइट का नियमित विजिट जरूर करते रहें। इस जानकारी को अधिक से अधिक शेयर जरूर करें।

Post a Comment

0 Comments