society or firm registration chhattisgarh . सोसाइटी या फर्म रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी हिंदी में -छत्तीसगढ़ - हमर गांव

Latest

Friday, 27 September 2019

society or firm registration chhattisgarh . सोसाइटी या फर्म रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी हिंदी में -छत्तीसगढ़

फ्रेंड्स वर्तमान में लोगों का जीवन बहुत ही व्यस्ततम हो गई है ,हर कोई अपने व्यक्तिगत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए कुछ न कुछ करने में लगे हुए हैं। किसी के पास सार्वजनिक जीवन के लिए कुछ करने का समय ही नही है। अपने समाज व आसपास के लोगों के बेहतर जीवनस्तर के लिए कुछ लोग ही कार्य करना चाहते हैं। शायद यही कारण है कि लोगों को लगने लगा है वर्तमान में करुणा ,दया तथा सहयोग की भावना मिटती जा रही है।,यह बात कुछ हद तक सही भी है ,इसका कई उदारण आपको आम जिंदगी में देखने को भी मिला होगा।
कई बार टीवी तथा समाचार पत्रों में भी आता है कि सड़क किनारे पड़े किसी घायल का मदद करने के बजाय लोग किनारे से निकल जाते हैं ,कभी कभी लोग घायल व्यक्ति को हॉस्पिटल तक पहुंचाने के बजाय सेल्फी लेते नजर आते हैं, परन्तु क्या आपने कभी लोगों के ऐसे बर्ताव के कारणों को जानने का प्रयास किया है।



आपने यह भी देखा होगा कि किसी के मदद करने के कारण लोग बुरी तरह समस्या में पड़ जाते हैं ,कभी कभी दूसरों के भला करने पर लोगों के जान पर बन आती है। कई बार तो लोगों को जान भी गवानी पड़ती है। ऐसा भी होता है कि लोगों को दूसरों के भला करने के कारण थाना ,अदालत का चक्कर भी काटना पड़ता है।

इन सब के अलावा एक मुख्य कारण है यह भी कि लोग विश्वासघाती और एहसान को भूलने वाले होते जा रहें ,शायद यही कारण है कि लोग दूसरों का मदद नहीं करना चाहते ,ऐसा भी नहीं है कि लोग वर्तमान में भलाई का कार्य नहीं करते ,आज कई फर्म या सोसाइटी (NGO) है जो लगातार लोगों के हित के लिए कार्य करती है। यदि आप भी लोगों के बेहतर जीवन के लिए कार्य करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक सोसायटी का गठन करना होगा। गठन के बाद पंजीयन कराकर आप भी शिक्षा ,स्वास्थ्य तथा लोगों को व्यवसाय दिलाने की दिशा में कार्य कर सकते हैं।


सोसायटी क्या है -सोसाइटी या NGO-non governmental orgnization  साहित्यिक ,शैक्षणिक ,वैज्ञानिक तथा धार्मिक या जिसे चैरिटी, ललित कलाओं के प्रमोशन ,उपयोगी ज्ञान के प्रसार ,राजनैतिक शिक्षा के प्रसार ,आम लोगों के हित के लिए किये जाने वाले कार्य जैसे बाढ़ पीड़ितों की मदद ,अनाथ बच्चों की मदद आदि उद्देश्यों को ध्यान में रखकर बनाया गया लोगों का समूह होता है। वास्तव में सोसाइटी या NGO गैर लाभकारी संगठन होता है वास्तव में जिसे समाज का परवाह करते हैं ,जो सरकार के स्वतंत्र कड़ी के रूप में समाज के कमजोर कड़ी को पकड़कर उसे  विकास की दिशा में आगे बढ़ाने का कार्य करती है।

छत्तीसगढ़ में सोसाइटी की शुरुआत कब हुआ- मध्य्प्रदेश सोसाइटी रजिस्ट्रीकरण अधिनिय 1973 को ही छत्तीसगढ़ राज्य गठन के पश्चात 1.11.2000 को अपनाया गया है ,जब छत्तीसगढ़ का गठन हुआ मध्यप्रदेश के कई अधिनियम /कानून को अपनाया गया उसमें से एक है सोसाइटी रजिस्ट्रीकरण।

आप किन -किन कार्यों के लिए सोसाइटी का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं-साहित्यिक ,शैक्षणिक ,वैज्ञानिक 👉धार्मिक या चैरिटी के लिए सोसाइटी का रजिस्ट्रेशन या पंजीयन कराया जा सकता है।
👉ललितकलाओं के अभिव्यक्ति या प्रमोशन के लिए
👉उपयोगी के प्रसार के लिए/राजनैतिक शिक्षा के प्रसार के लिए
👉सदस्यों के साधारण उपयोग के लिए या लोगों के खुले रहने वाले पुस्तकालय का प्रतिष्ठापन या अनुरक्षण शामिल है।
👉बुक संग्रहालय ,प्रकृति विज्ञान ,दार्शनिक अविष्कारों के सम्प्रबन्धन केलिए
👉सामाजिक कल्याण के सम्प्रवर्तन के लिए
👉धार्मिक या खैराती प्रयोजन ,इसके अंतर्गत सैनिक ,अनाथों ,बाढ़ पीड़ितों आदि कल्याणकारी योजनाएं शामिल है।
👉 शासन के योजनाओं के प्रमोशन या क्रियान्वयन के लिए
👉वाणिज्य उद्योगों तथा खादी के प्रमोशन के लिए
इस प्रकार आप इन कार्यों के लिए सोसाइटी का गठन कर सकते हैं।



सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक शर्तें -
👉सोसाइटी का प्रस्तावित नाम ,आपको  उद्देश्य के अनुसार सोसाइटी का नाम चयन कर रजिस्ट्रार के समक्ष प्रस्तुत करना होगा।
👉सोसाइटी का उद्देश्य ,आप किस उद्देश्य के लिए सोसाइटी रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं।
👉सोसाइटी के कार्यालय का पता
👉सदस्यों के नाम ,पता ,व्यवसाय आदि की जानकारी
👉आप रजिस्ट्रार के समक्ष प्रस्तुत करते हैं तो सोसाइटी के तीन प्रमुख प्रस्तावित प्रबंध कार्यकारणी के सदस्यों का हस्ताक्षर होना आवश्यक है।
👉सोसाइटी एसोसिएशन को मेमोरेंडम (ज्ञापन ) को फार्म 1 में ही रजिस्ट्रार के समक्ष प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

सोसाइटी नामकरण के संबंध में ध्यान देने योग्य बातें-
👉सोसाइटी का नाम वर्तमान में रजिस्टर्ड किसी भी सोसाइटी के नाम से मिलता जुलता न हो क्योंकि यह आम लोगों के लिए भ्रामक हो सकता हैं।
👉भारत सरकार या छत्तीसगढ़ सरकार के किसी कन्स्ट्रक्शन जैसा नाम न हो।
👉राष्ट्रिय ,अंतर्राष्ट्रीय या यूनिवर्शल जैसा नाम नहीं रखा जा सकता।
👉सोसाइटी का नाम ऐसा भी नहीं रखा जा सकता जिससे कि रजिस्ट्रार को लगे ,इससे लोगों में भ्रान्ति हो सकती है।

धारा 9 के अनुसार सोसाइटी का नियम या बायलॉज बनाया जाना आवश्यक है-जी हाँ यदि आप सोसाइटी का रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो
👉सोसाइटी का अपना नियम या कानून होना आवश्यक है।
👉सदस्य-किस प्रकार सदस्य बनेंगे ,या कैसे निकाला जाएगा ,या किस तरह फ़ाईन लगेगी आदि 
👉सदस्यों का दायित्व
👉बैठक
👉फण्ड मेनेजमेंट कैसे होगा
👉फंड  लेखा जोखा,आडिट
👉समिति का विघटन कैसे होगा इन सब का उल्लेख सोसाइटी के बायलॉज में होना आवश्यक है।
सोसाइटी रजिस्ट्रशन से संबंधित इन सभी आवश्यक आहर्ता को पूर्ण करने के पश्चात आप सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।


आवश्यक दस्तावेज -
👉सोसाइटी का नाम
👉सोसाइटी का उद्देश्य
👉कार्यालय का पता
👉बैंक पासबुक
👉सदस्यों का आईडी
👉ई-चालान

सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन अप्प्लाई कैसे करें -
फ्रेंड्स तो चलिए सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन अप्लाई करने के पूरी प्रोसेस  स्टेप बाई स्टेप जान लेते हैं। 
STEP 1. फ्रेंड्स उक्त आवश्यक जानकारियों को पूर्ण कर लेने के पश्चात आपको अपने एंड्राइड मोबाईल या लेपटॉप के ब्राउजर को OPEN करना होगा। OPEN कर लेने के पश्चात आपको उसके गूगल सर्च बार में rfas.nic.chhattisgarh login टाइप कर सर्च कर देना होगा। इसके बाद स्क्रीनशॉट द्वारा दिखाए गए rfas.nic.cg  के पेज पर क्लिक करना होगा।
( प्रेंड्स आप लोगों के सुविधा  लिए इस पोस्ट के अंत में rfas.cg.nic का लिंक उपलब्ध कराया जा है। आप पुरे प्रोसेस को अच्छे से समझने के बाद सीधे इस पोस्ट से  rfas.cg.nic के साईट में जा सकेंगे। )

STEP 2.नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करते ही rfas.cg.nic का HOME OPEN हो जाएगा ,चूँकि आप पहली दफा सोसाइटी रजिस्ट्रेशन हेतु rfas.cg.nic के साईट पर LOGIN होना चाहते हैं तो आपको अपना लॉगिन पासवर्ड बनाना होगा इसके लिए आपको नये आवेदनकर्ता यहां लॉगिन करें पर क्लिक करना होगा।

STEP 3.क्लिक करते ही सोसाइटी या फर्म का पंजीयन फ़ार्म OPEN हो जाएगा। आपको पूरी जानकारी को ध्यान से भरना होगा ,जहां -जहाँ मार्क्ड (*) है ,उस जानकारी को भरना है अनिवार्य है। नाम ,मोबाईल नंबर ,आधार नंबर ,ईमेल ,पता ,यूजर आईडी ,पासवर्ड , फिर पासवर्ड दर्ज करना होगा और अंत में नीचे दिए कैप्चा को भरने के बाद रजिस्टर पर क्लिक करना होगा।
( यूजर आईडी और पासवर्ड को ध्यान से नोट कर लेना है क्योंकि पंजीयन के पश्चात आपको login होने के लिए यूजर आईडी और पासवर्ड की आवश्यकता होगी  )





STEP 4.इस प्रकार रजिस्टर पर क्लिक करते ही रजिस्टर्ड सक्सेसफुली का पॉपअप स्क्रीन पर दिखाई देगा ,इस पॉपअप के OK पर क्लिक करना होगा,अब एक नया पेज OPEN हो जाएगा ,इस पेज में OTP सत्यापन करना होगा जो कि रजिस्टर पर क्लिक करते ही आपके द्वारा दर्ज मोबाईल नंबर पर SMS द्वारा आएगा ,यदि नहीं आये तो पुनः रिसेंट OTP कर सकते हैं। OTP को भरने के बाद सत्यापित करें पर क्लिक करना होगा।

STEP 5.क्लिक करते ही यूजर आईडी और पासवर्ड का पेज OPEN हो जाएगा। आपको यूजर आईडी और पासवर्ड भरने के बाद कैप्चा को भरना होगा और अंत में LOGIN पर क्लिक करना होगा।


     

STEP 6. अब एक नया पेज OPEN हो जाएगा ,इस पेज में आपको दो विकल्प दिखाई देगा -
सोसाइटी 
फर्म 
आपको अपने आवश्यकता अनुसार सोसाइटी रजिस्ट्रेशन या फार्म रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा ,यदि आप सोसाइटी रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए यहां क्लिक करें पर क्लिक करना होगा। 
STEP 7.अब सोसाइटी रजिस्ट्रेशन का फार्म OPEN हो जाएगा,इस फार्म को चार भागों में भरना होगा। पहले भाग के रेड लाइन में दिए इंस्ट्रक्शन को ध्यान से पढ़कर आपको फार्म के प्रत्येक बिंदु को भरना होगा। 


पहला भाग -सोसाइटी का नाम ,पता तथा उद्देश्य- सोसाइटी का नाम अंग्रेजी /हिंदी में ,पता ,आवेदन का प्रकार -सामान्य , संस्था का प्रकार -वैसे तो सामान्य सोसाइटी ही रखना चाहिए आप अपने आवश्यकता अनुसार सलेक्ट कर सकते हैं ,उद्देश्य -टाइप कर ADD करते जाना है। अंत में सुरक्षित करें पर क्लिक कर देना है। 


STEP 8. दूसरे और तीसरे भाग में समिति के पदाधिकारियों का नाम ,पिता/पति का नाम ,मकान नंबर ,आदि भरना है अध्यक्ष का आधार ,पेन कार्ड तथा सोसाइटी से संबंधी आवश्यक दस्तावेज को स्केन कर रिसाइज एप्प के मदद से फाइल को रिसाइज कर jpg या pdf  (जो आवश्यक हो )में बदल लेना है ,बैंक संबंधी आवश्यक जानकारी भर लेना है।फार्म में हर एक बिंदु को भरने के लिए दिशानिर्देश दिया गया आप आसानी से फ़ार्म भर सकते हैं।
STEP 9. अंतिम भाग में आप रजिस्ट्रेशन फ़ीस ई-चालान के माध्यम से ज़माकर सकते हैं, ई- चालान के माध्यम से रजिस्ट्रेशन फ़ीस जमा करने के लिए गूगल सर्चबार में e-chalan.cg  टाइप कर सर्च कर देना है,उसके बाद E-chalan (NIC ) CHHATTISGARH पर क्लिक कर new user /register here पर क्लिक कर ,यूजर आईडी और पासवर्ड बनाकर पेमेंट कर दें और पेमेंट सक्सेस होने पर treasury reference NO.प्राप्त होगा उसे प्रिंट या नोट कर लें।

STEP10 . अब treasury reference NO को सोसाइटी रजिस्ट्रेशन फार्म के पेमेंट वाले भाग पर दर्ज कर FINAL SUBMIT कर दें।  सोसाइटी रजिस्ट्रेशन के लिए 30 दिन का समय निर्धारित किया गया है, यदि आपका सोसाइटी अप्रूव होता है तो रजिस्टर मोबाइल sms से सूचना प्राप्त होगा इस प्रकार रजिस्ट्रेशन को प्रिंट कर सोसाइटी रजिस्ट्रेशन कार्यालय में जमा कर दीजिये। यदि आब्जेक्शन लगता है तो उसे क्लियर करके पुनः अपलोड कर दीजिये।

 rfas.nic.chhattisgarh  login यहां क्लिक करें 


अन्य संबंधित लिंक 
👉छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले में जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें 
👉छत्तीसगढ़ राशनकार्ड नवीनीकरण के बाद पात्र /अपात्र की सूची कैसे देखें 
👉हाई कोर्ट ,जिला कोर्ट का केस स्टेटस कैसे देखें छत्तीसगढ़ 
👉मोबाइल फोन /सीमकार्ड चोरी का कम्प्लेन्ट घर बैठे कैसे करें छत्तीसगढ़ 
👉छत्तीसगढ़ डाक पिनकोड कैसे पता करें 
👉छत्तीसगढ़ बिजली कनेक्शन हेतु ऑनलाइन आवेदन कैसे करें 
👉स्वसहायता समूह के माध्यम से लोन कैसे लें 

फ्रेंड्स आपको यह जानकारी कैसा लगा निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर हमें जरूर बताएं। इस जानकारी को छत्तीसगढ़ के लोगों तक पहुंचाने के लिए अधिक से अधिक शेयर करने में मदद जरूर करें। दोस्तों सोसाइटी रजिस्ट्रेशन फीस समय -समय पर कम ज्यादा निर्धारित होते रहता है इस लिए फीस के बारे एक्जेक्ट राशि पता कर लें फिर ई-चालान जमा करें। धन्यवाद   
     


      

No comments:

Post a Comment